मध्यप्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
मध्यप्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

MP में प्रशासनिक फेरबदल : राघवेंद्र कुमार सिंह को मुख्यमंत्री मोहन यादव का प्रमुख सचिव बनाया

 मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी की जगह खनिज साधन विभाग के प्रमुख सचिव राघवेंद्र कुमार सिंह को मुख्यमंत्री मोहन यादव का  प्रमुख सचिव  बनाया गया है। रस्तोगी लंबे समय से शिवराज सरकार में मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव बने हुए थे।




राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने गोपाल भार्गव को प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ दिलाई

राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

भोपाल :  14 दिसम्बर / राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने श्री गोपाल भार्गव को राजभवन में विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह का गरिमामय आयोजन राजभवन के दरबार हॉल में किया गया था। समारोह में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, उप-मुख्यमंत्री श्री जगदीश देवड़ा, उप-मुख्यमंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल भी मौजूद थे।

शपथ विधि कार्यक्रम का संचालन प्रमुख सचिव विधानसभा श्री अवधेश प्रताप सिंह ने किया।

इस अवसर पर विधायकगण, मुख्य सचिव श्रीमती वीरा राणा, पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर कुमार सक्सेना, अपर मुख्य सचिव श्री विनोद कुमार, राज्यपाल के प्रमुख सचिव श्री डी. पी. आहूजा, विधानसभा के अधिकारी और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

लघु समाचार पत्रों को मिलेगा हर दो माह में विज्ञापन



70 वर्ष से अधिक आयु के पत्रकारों को स्थायी अधिमान्यता कार्ड मिलेगा

महिला पत्रकारों को महिला कल्याण कार्यों के अध्ययन के लिए मिलेगी फैलोशिप

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आधुनिक और देश में अनूठे भोपाल स्टेट मीडिया सेंटर के निर्माण के लिए किया भूमिपूजन

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पत्रकार समाज और सरकार के मध्य सेतु की भूमिका निभाते हैं। पत्रकार समाज के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति की आवाज होते हैं। पत्रकारिता एक धर्म है, जिसके निर्वहन के लिए पत्रकार युद्ध, बाढ़, भूकम्प जैसी विपरीत स्थितियों में भी जीवन दांव पर लगाकर कार्य करते हैं। जब विपत्तियों में लोग सुरक्षित स्थान खोजते हैं, तब पत्रकार समाधान खोजते हैं। स्टेट मीडिया सेंटर भविष्य के ऐसे वृट वृक्ष के बीज रोपे जा रहे हैं, जिनसे अनुभवों की शाखाओं पर अनंत आशाएं साकार होंगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मालवीय नगर भोपाल में स्टेट मीडिया सेंटर के लिए भूमि पूजन समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री श्री राजेंद्र शुक्ला, आयुक्त जनसंपर्क श्री मनीष सिंह उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लघु समाचार पत्रों को एक माह के अंतराल से विज्ञापन जारी करने और 70 वर्ष से अधिक आयु के पत्रकारों को स्थायी अधिमान्यता कार्ड प्रदान करने की घोषणा की। हर साल पांच महिला पत्रकारों को महिला विकास कार्यों पर अध्ययन के लिए फैलोशिप प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पत्रकार समाज को प्राप्त वो आश्वासन है, जिनके होने से सुनवाई सुनिश्चित है। राष्ट्र निर्माण में पत्रकारों के स्याही का अमूल्य योगदान है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पत्रकार और पत्रकारिता लोकतंत्र के प्राण हैं। मध्यप्रदेश की भूमि से पंडित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता के पुरोधा बने। इसी धरती पर श्री हरिशंकर परसाई जैसे व्यंग्यकार हुए जिन्होंने समाज को आईना दिखाने का कार्य किया। स्व. श्री वेदप्रताप वैदिक ने हिंदी की प्रतिष्ठा के लिए कार्य किया। स्व. श्री प्रभाष जोशी ने नई भाषा दी। एक दौर था जब स्वतंत्रता आंदोलन में पत्रकारों ने भागीदारी की और परतंत्रता की बेड़ियां तोड़ने का कार्य किया। आपातकाल के खिलाफ भी पत्रकार लड़े। कोविड के कठिन दौर में पत्रकारों ने अपना दायित्व निभाया। पत्रकार समाजसेवी भी होते हैं, उनका सरोकारों से ऐसा रिश्ता होता है, जैसे शरीर और आत्मा का रिश्ता।

मीडिया सेंटर बनेगा पत्रकारिता के छात्रों का गुरूकुल

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज इलेक्ट्रानिक और सोशल मीडिया के दौर में कहीं-कहीं विश्वसनीयता का संकट देखने को मिलता है। संवाद, संचार और सम्पर्क पत्रकारिता के प्राण होते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आशा व्यक्त की कि स्टेट मीडिया सेंटर इन पत्रकारों के संवाद, खबरों के संचार और हमारे सम्पर्क का केन्द्र बनेगा। यह केन्द्र पत्रकारिता के छात्रों का गुरूकुल बनेगा। यह केन्द्र वरिष्ठों के अनुभवों और युवाओं की ऊर्जा का उपयोग करेगा। साथ ही पुराने घर की स्मृतियां भी संजोएगा।

पुराने भवन की यादों के साथ नए आंगन में प्रवेश

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकार भवन की नींव रखने वाले पुरोधा पत्रकारों का स्मरण भी किया और इस पत्रकार भवन में एक युग में पत्रकारों से भेंट और पत्रकार वार्ता आयोजित करने के अपने अनुभव भी साझा किए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गत 7 सितम्बर को उन्होंने मुख्यमंत्री निवास में पत्रकार समागम में इस मीडिया सेंटर के संबंध में घोषणा की थी जिसे आज मूर्त रूप देते हुए भूमिपूजन का कार्य सम्पन्न हुआ है। अब पत्रकार बंधु इस मीडिया सेंटर के रूप में पुराने पत्रकार के भवन की यादों के साथ नए आंगन में प्रवेश करेंगे। पत्रकार भवन के पुनर्निर्माण का सपना पूरा होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशभर से पधारे पत्रकारों को स्टेट मीडिया सेंटर के शिलान्यास अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं दीं।

जिलों में पत्रकारों को भूखंड प्रदान करने की चल रही है कार्यवाही - जनसंपर्क मंत्री शुक्ल

जनसंपर्क मंत्री श्री राजेंद्र शुक्ल ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि आज स्टेट मीडिया सेंटर के शिलान्यास में प्रदेश भर से पत्रकार आए हैं। पत्रकार लोकतंत्र को वरदान बनाने का कार्य करते हैं। उन्हें मूलभूत सुविधाएं प्राप्त होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश को बीमारू प्रदेश होने की पहचान को समाप्त कर तेजी से विकास कर रहे प्रदेश की पहचान दी है। अब हम नहीं जमाना कहता है कि मध्यप्रदेश विकसित प्रदेश में शामिल हो रहा है। उन्होंने समय-समय पर सभी वर्गों के हित में कदम उठाए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकारों के लिए भी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू की जिससे अनेक परिवारों को राहत मिली। गत 7 सितंबर को मुख्यमंत्री निवास में पत्रकार समागम में स्टेट मीडिया सेंटर प्रारंभ करने के साथ पत्रकारों कोजिला स्तर पर भूखंड प्रदान करने की घोषणा की थी। जिलों में पत्रकारों को भूखंड प्रदान करने के लिए आवश्यक कार्यवाही भी प्रारंभ हो गई है। जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों को भी लंबे समय से उच्च पद के प्रभार के लिए पात्र अधिकारियों और नये सहायक संचालकों को लंबित वार्षिक वेतन वृद्धि का लाभ दिया जायेगा।

वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मान निधि

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज स्टेट मीडिया सेंटर के शिलान्यास समारोह में प्रदेश के 10 वरिष्ठ पत्रकारों को बढ़ी हुई सम्मान निधि प्रतीक स्वरूप प्रदान की। उल्लेखनीय है कि प्रतिमाह 10,000 के स्थान पर अब 20,000 की राशि का भुगतान सम्मान निधि के अंतर्गत जनसंपर्क विभाग द्वारा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज स्टेट मीडिया सेंटर के शिलान्यास समारोह में प्रदेश के जिन वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मान निधि प्रदान की उनमें श्री विजय दत्त श्रीधर भोपाल, श्री ओम प्रकाश फरक्या इंदौर, श्री परमानंद तिवारी जबलपुर, श्री देव श्रीमाली ग्वालियर, श्री अंजनी कुमार शास्त्री रीवा, श्री राजेंद्र पुरोहित उज्जैन, श्री सिद्ध गोपाल तिवारी सागर, श्री कमलेश सिंह परिहार चंबल, श्री पंकज पटेरिया नर्मदापुरम और श्री रामावतार गुप्ता शहडोल शामिल हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकार भवन परिसर में अनुष्ठान और विधि-विधान पूर्वक स्टेट मीडिया सेंटर के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया। उन्होंने शिला पट्टिका का अनावरण भी किया। मंचीय कार्यक्रम का शुभारंभ कन्या पूजन से हुआ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंच पर आते ही प्रदेश के सभी जिलों से आये समस्त पत्रकार बंधुओं का स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पौधा भेंट कर वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में स्टेट मीडिया सेंटर की विशेषताओं और पत्रकार कल्याण पर केन्द्रित लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया।

प्रत्येक जिले के पत्रकारों से मिले मुख्यमंत्री श्री चौहान

स्टेट मीडिया सेंटर के भूमिपूजन के औपचारिक कार्यक्रम के पश्चात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के जिलों से पधारे प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया, सोशल मीडिया से जुड़े पत्रकारों, टी.वी. कैमरा पर्सन और प्रेस छायाकारों से भेंट कर संवाद किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान पत्रकारों के साथ भोजन में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अहम घोषणाएं

मध्य प्रदेश में महिला विकास एवं कल्याण के कार्यों पर अध्ययन करने के लिए माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय एवं संस्थान द्वारा जनसम्पर्क विभाग के सहयोग से प्रतिवर्ष 5 महिला पत्रकारों को फैलोशिप दी जाएगी।

प्रदेश में अब 1 महीने के अंतराल से हर छोटे समाचार-पत्र को विज्ञापन देने की व्यवस्था की जाएगी।

प्रदेश के 70 साल से अधिक की आयु वाले वरिष्ठ पत्रकारों को स्थायी अधिमान्यता कार्ड दिया जायेगा।

जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों को वरिष्ठ पद के प्रभार के आदेश जारी किए जा रहे हैं।

सहायक संचालक पद पर कार्य कर रहे अधिकारियों की जो वेतन वृद्धि देय है उसके भी आदेश जारी किये जा रहे हैं।

कैसा होगा स्टेट मीडिया सेंटर

भोपाल में स्टेट मीडिया सेंटर का निर्माण 28 करोड़ रुपए की लागत से होगा। यह सर्व सुविधा युक्त मीडिया सेंटर होगा। इस सेंटर में निर्माण एजेंसी मध्यप्रदेश भवन विकास निगम है। अगले दो वर्ष में निर्माण पूर्ण करने का लक्ष्य है। कुल 66 हजार 981 वर्गफीट में तीन मंजिल के भवन में लोअर ग्राउण्ड फ्लोर पर वाहन पार्किंग, ड्रायवर्स रूम, मेंटेनेंस रूम, बैंक, शॉप्स और डिस्पेंसरी निर्माण होगा। ग्राउण्ड फ्लोरपर एक्जीबिशन हॉल, आर्ट गैलरी, मिनी ऑडिटोरियम, प्रेस कॉन्फ्रेंस कक्ष, प्रशासनिक कक्ष, रिसेप्शन कक्ष, कॉरीडोर, बैंक्वेट हॉल, बैंडमिंटन कोर्ट, रेस्टारेंट, टेरिस गार्डन होंगे। प्रथम मंजिल पर लायब्रेरी, प्रेस कॉन्फ्रेंस हॉल, मल्टी मीडिया रूम, लाउन्ज, जिम्नेशियम और इन्डोर गेम हॉल होगा। दूसरे मंजिल पर ओपन टेरिस, वर्किंग स्पेस, केबिन मिनी मीटिंग रूम, क्यूबिकल वर्क स्टेशन होंगे। तीसरी मंजिल पर पत्रकारों के लिए वर्क स्पेस, न्यूज और मीडिया के ऑफिस स्पेस रहेगा।

भोपाल में बनेगा सर्वसुविधायुक्त स्टेट मीडिया सेंटर - मुख्यमंत्री चौहान

पत्रकारों के उपचार के लिए बढ़ी सहायता राशि

जनसंपर्क विभाग छोटे शहरों और कस्बों के पत्रकारों को दिलवाएगा डिजिटल तकनीक का प्रशिक्षण

मुख्यमंत्री निवास में हुआ पत्रकार समागम

पहली बार एकत्र हुए प्रदेश के प्रमुख नगरों और सभी जिलों के मीडिया प्रतिनिधि

प्रिंट सहित इलेक्ट्रानिक मीडिया और न्यू मीडिया के प्रतिनिधि हुए शामिल

वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर भी पत्रकार समागम में पहुंचे

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लोकतंत्र के आधार स्तंभ के रूप में मीडिया प्रतिनिधियों का परिश्रम प्रशंसनीय है। पत्रकार साथी दिन-रात कार्य करते हैं। अनेक कठिनाइयों के बीच वे तथ्यों और समाचारों को जनता तक पहुंचाने का कार्य करते हैं। यही नहीं सरकार और अन्य सभी के लिए सेतु के रूप में भी उनकी भूमिका महत्वपूर्ण होती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मीडिया के लिए मेरे मन में बहुत आदर का स्थान है। आज इस पत्रकार समागम में अनेक साथियों से भेंट हो रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास में पत्रकार समागम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकार वर्ग के लिए अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं। इनमें उपचार सहायता, बीमा योजना, आवास सुविधा, शिक्षा के लिए सुविधा आदि शामिल है। इसके साथ ही जनसंपर्क विभाग छोटे शहरों और कस्बों के पत्रकारों को डिजिटल तकनीक प्रशिक्षण दिलवाने का कार्य भी करेगा। आज हुए पत्रकार समागम में पहली बार राजधानी में प्रदेश के अनेक जिलों के पत्रकार एकत्र हुए।

अत्याधुनिक होगा स्टेट मीडिया सेंटर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल के मालवीय नगर में पत्रकार भवन की भूमि वर्तमान में अनुपयोगी है। सभी की इच्छा है कि यहां नया भवन बने। इसे नया स्वरूप दिया जाएगा। नया भवन निर्मित किया जाएगा। नवनिर्मित भवन के साथ ही इसे स्टेट मीडिया सेंटर का दर्जा रहेगा। इसमें सभागार, पुस्तकालय, कैंटीन, सामान्य कक्ष सहित अन्य सुविधाएं होंगी। सेंटर में आधुनिक सुविधाएं भी उपलब्ध कराएंगे।

मीडिया के प्रतिनिधियों से मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की आत्मीय चर्चा

आज मुख्यमंत्री निवास में पत्रकार समागम में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, प्रिंट मीडिया, न्यू मीडिया के विभिन्न माध्यमों और सोशल मीडिया के अलग-अलग माध्यमों के प्रतिनिधि उपस्थित हुए। आकाशवाणी, दूरदर्शन से जुड़े प्रतिनिधियों और एफएम चैनल के प्रतिनिधि भी पत्रकार समागम में शामिल हुए। वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर भी पत्रकार समागम में पहुंचे। राजधानी भोपाल सहित प्रमुख नगरों इंदौर, उज्जैन, सागर, रीवा, शहडोल, चंबल, ग्वालियर और नर्मदापुरम सहित सभी संभागों के सभी जिलों के प्रतिनिधि आए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संबोधन के पश्चात मीडिया बंधुओं से आत्मीय भेंट और चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मीडिया के बंधुओं को दोपहर भोज के लिए आमंत्रित किया और भोजन के पश्चात ही प्रस्थान करने का आग्रह किया। व्रतधारी अतिथियों के लिए फलाहार की भी व्यवस्था की गई थी। पत्रकारों ने मुख्यमंत्री निवास परिसर में नवनिर्मित समत्व भवन और भोज ताल की सुंदरता का भी अवलोकन किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान की महत्वपूर्ण घोषणाएं

राजधानी के पत्रकार भवन की भूमि पर नए भवन का निर्माण किया जाएगा।

वर्तमान में भोपाल में दो स्थानों पर पत्रकारों के लिए भूमि आवंटित कर कॉलोनी विकसित की गई है। अन्य नगरों में आज की आवश्यकता के अनुसार पत्रकारों की सोसायटी को भूमि प्रदान करने की कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए विधिवत कदम उठाए जाएंगे। इससे पत्रकार बंधुओं को अपना मकान बनाने के लिए व्यवस्था आसान होगी।

बीमा कंपनी द्वारा प्रीमियम राशि में 27 प्रतिशत वृद्धि की गई थी। बढ़ी हुई राशि पत्रकारों को नहीं भरना होगी। राज्य सरकार बढ़ी हुई राशि वहन करेगी। गत वर्ष की तरह ही पत्रकारों को प्रीमियम देना होगा।

65 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ पत्रकारों को बीमा के लिए प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा भरा जाएगा। पत्रकारों के जीवनसाथी (पति/पत्नी) के बीमा का प्रीमियम भीराज्य सरकार भरेगी।

बीमा योजना की अंतिम तिथि 16 सितंबर से बढ़ाकर 25 सितंबर की जाएगी।

अस्वस्थ होने पर पत्रकार बंधु को आर्थिक सहायता के लिए वर्तमान प्रावधान 20 हजार के स्थान पर 40 हजार रूपए किया जाएगा। गंभीर बीमारी की स्थिति में यह 50 हजार के स्थान पर एक लाख रुपये होगा।

मध्यप्रदेश के वरिष्ठ एवं बुजुर्ग पत्रकारों को मासिक सम्मान निधि की राशि 10 हजार के स्थान पर 20 हजार रूपए होगी।

सम्मान निधि प्राप्त करने वाले पत्रकार के अवसान की स्थिति में परिवार को आठ लाख रूपए की राशि प्रदान की जाएगी।

अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को आवास ऋण ब्याज अनुदान योजना के अंतर्गत अधिकतम ऋण की राशि 25 लाख से बढ़ाकर 30 लाख रूपए की जाएगी।

अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों के बेटे-बेटियों की शिक्षा के लिए बैंक से ऋण पर उसके ब्याज पर 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान 5 वर्ष के लिए राज्य सरकार वहन करेगी।

मध्यप्रदेश के छोटे शहरों और कस्बों के पत्रकार साथियों की जरूरत के अनुसार उन्हें भोपाल में डिजिटल तकनीक का प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। इसके लिए जनसंपर्क विभाग आवश्यक व्यवस्थाएं करेगा। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल का सहयोग भी प्राप्त किया जाएगा।

पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए वरिष्ठ पत्रकारों की समिति गठित कर प्राप्त सुझावों पर राज्य शासन द्वारा अमल किया जाएगा।

पत्रकार समागम के अवसर पर मुख्यमंत्री और जनसंपर्क विभाग के सचिव श्री विवेक पोरवाल, आयुक्त जनसंपर्क श्री मनीष सिंह, जनसंपर्क संचालक श्री आशुतोष प्रताप सिंह और मुख्यमंत्री कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

CM चौहान 22 अगस्त को करेंगे "मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ" योजना का शुभारंभ

 

ग्वालियर | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार 22 अगस्त को 'मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ' योजना का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री चौहान भोपाल के शासकीय महात्मा गांधी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, भेल, भोपाल में शाम 4 बजे योजना में चयनित युवाओं को अनुबंध का वितरण करेंगे।

प्रदेश में युवाओं को कौशल विकास के साथ ही 'लर्न एंड अर्न' की तर्ज पर "ऑन जॉब ट्रेनिंग" की सुविधा के लिये शुरू की गई 'मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ' योजना में 18 से 29 वर्ष आयु के मध्यप्रदेश के मूल निवासी युवाओं को, जिन्होंने 12वीं/आईटीआई या उससे उच्च शैक्षणिक योग्यता प्राप्त की हो, को उद्योग उन्मुख प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को 8 से 10 हजार रूपये का स्टायपेंड भी दिया जाएगा।'मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ' योजना के प्रथम चरण में एक लाख युवाओं को रोजगारोन्मुखी कौशल में प्रशिक्षित करने का लक्ष्य है। योजना में 8 लाख 69 हजार 673 युवाओं ने अपना पंजीयन कराया है। अब तक कुल 16 हजार 450 प्रतिष्ठानों ने पंजीकृत युवाओं के लिये लगभग 68 हजार 984 पद प्रकाशित किये हैं। योजना में पहले प्रतिष्ठानों का पोर्टल पर पंजीयन किया गया। इसके बाद वेकेंसी प्रकाशित की गई। युवाओं द्वारा भी पोर्टल पर कोर्स का चयन कर वेकेंसी की विरूद्ध आवेदन किया जा रहा है।
अब तक लगभग 14 हजार 450 अनुबंध जनरेट किये गये हैं। इसमें भोपाल में सर्वाधिक 643 अनुबंध किये गये। इसके अतिरिक्त रीवा में 640, जबलपुर में 560, दमोह में 487, सतना 486, बैतूल 467, ग्वालियर 435, सागर 418, इंदौर 414, छिंदवाड़ा 398, खरगोन 398, नरसिंहपुर 362, शिवपुरी 330, खंडवा 325, सिगरौली 320, धार 314, उज्जैन 330, गुना 296, बालाघाट 293, शहडोल 292, सिवनी 289, छतरपुर 284, रतलाम 276, मंदसौर 270, रायसेन 267, राजगढ़ 267, शाजापुर 257, मुरैना 251, भिंड 248, सीहोर 247, नीमच 244, विदिशा 235, सीधी 225, अनूपपुर 216, कटनी 209, पन्ना 201, नर्मदापुरम 192, देवास 188, आगर-मालवा 187, बड़वानी 167, उमरिया 164, बुरहानपुर 163, मंडला 162, टीकमगढ़ 160, झाबुआ 151, दतिया 149, अशोकनगर 147, हरदा 124, डिंडोरी 102, श्योपुर 83, निवाड़ी 82 और अलीराजपुर में 78 अनुबंध किये गये। 

अर्जुन अहिरवार कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग के प्रदेश महासचिव नियुक्त

छतरपुर / अर्जुन अहिरवार जिला छतरपुर को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सोशल मीडिया विभाग का प्रदेश महासचिव नियुक्त होने पर समस्त कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं जिला संगठन मंत्री सूर्य प्रताप सिंह जिला अध्यक्ष कांग्रेस छतरपुर श्री लखन लाल पटेल एवं जिला अध्यक्ष छतरपुर युवा कांग्रेस श्री लोकेंद्र वर्मा नेशनल कांग्रेस वर्कर कमेटी मध्यप्रदेश के  प्रदेश सचिव इंजीनियर राहुल अहिरवार, युवा कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष छतरपुर श्री डैनी एवं कांग्रेस कमेटी छतरपुर, एवं मध्य प्रदेश के समस्त कांग्रेश पदाधिकारियों एवं कार्यकर्तागणों ने अर्जुन अहिरवार को  बधाई शुभकामनाएं दी I 

 अर्जुन अहिरवार ने आश्वासन दिया अपनी पूर्ण निष्ठा व लगन से कार्य कर कांग्रेस की रीति नीतियों को सोशल मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंचाएंगे और पार्टी को मजबूती प्रदान करेंगे I 


बाल कल्याण समिति ने मूक बधिर बालक को मिलाया अपने परिवार से,

गुना  /  22 मई 2023 को रेलवे सुरक्षा बल द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी एक मूक-बधिर बालक इंटरसिटी ट्रेन में अकेला है बालक की आयु लगभग 12 13 वर्ष है इसकी सूचना ट्रेन में यात्रा कर रहे सह यात्रियों ने आरपीएफ को दी,,, आरपीएफ के द्वारा बच्चे को गुना में अपनी अभिरक्षा में लिया एवं इसकी जानकारी बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सतीश अरोड़ा को दी अरोड़ा के द्वारा आरपीएफ थाने जाकर बालक से जानकारी लेने की कोशिश की लेकिन बालक मूक बधिर होने के कारण किसी तरह की कोई जानकारी देने में असमर्थ था बालक ने अपना नाम लिखकर देव पंत बताया किस स्थान या परिवार की कोई जानकारी बालक के द्वारा नहीं दी जा सकती तत्पश्चात बाल कल्याण समिति द्वारा अपनी सुरक्षा में लेकर बच्चे को मां स्वरूप आश्रम रखा गया एवं बालक की काउंसलिंग की गई मूक बधिर होने के कारण बालक की सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ से भी वीडियो कॉल पर चर्चा की गई लेकिन उसके परिवार की कोई जानकारी नहीं मिल पाई उसके पश्चात बालक को बाल गृह शिवपुरी भेजा गया वहां पर भी बालक के साथ लगभग प्रतिदिन काउंसलिंग की जाती रही धीरे-धीरे बालक के द्वारा जानकारी सामने आने पर उसके पिता का पता लगा जो देहरादून निवासी हैं उनका संपर्क किया गया एवं उनको जानकारी दी गई कि आपका पुत्र हमारे यहां सुरक्षित है उनके पिता द्वारा शिवपुरी एवं गुना आकर पिता को बाल कल्याण समिति के द्वारा काउंसलिंग उपरांत बच्चे को पिता के सुपुर्द किया गया सुपुर्दगी के दौरान बाल कल्याण समिति की समस्त टीम अध्यक्ष सतीश अरोड़ा ,,, सदस्य श्रीमती संगीता सिंह भाटी,, श्रीमती मेघा जैन रावत एवं श्रीमती मधु शर्मा,,, साथ ही बाल गृह शिवपुरी के बाल कल्याण अधिकारी उपस्थित थे पिता पुत्र के मिलन को देखकर समस्त टीम भावनात्मक रूप से भाव विभोर थे l 

एमपी बोर्ड 10वीं-12वीं रिजल्ट 25 मई को दोपहर 12:30 बजे होगा जारी

 मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा के परिणाम कल 25 मई को जारी होंगे। स्कूली शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार दोपहर 12.30 बजे इसे भोपाल में एमपी बोर्ड आफिस के विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र स्थित आडिटोरियम में एक कार्यक्रम के दौरान जारी करेंगे। एमपी बोर्ड की वेबसाइट mpbse.nic.in पर विद्यार्थी अपना परिणाम देख सकेंगे।


नव-नियुक्त आयुक्त जनसम्पर्क मनीष सिंह ने कार्यभार ग्रहण किया

 

भोपाल : नव-नियुक्त आयुक्त जनसम्पर्क श्री मनीष सिंह ने आज जनसम्पर्क संचालनालय में पदभार ग्रहण किया। निवृत्तमान आयुक्त श्री राघवेन्द्र कुमार सिंह ने चार्ज सौंपा और विभागीय गतिविधियों और कार्य-प्रणाली की जानकारी दी। आयुक्त श्री सिंह ने पदभार ग्रहण करने के बाद संचालनालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभागीय चर्चा कर संचालनालय के विभिन्न प्रभागों का अवलोकन भी किया। अपर संचालक श्री सुरेश गुप्ता सहित संचालनालय के अधिकारी उपस्थित थे।

खरगोन में बस नदी में गिरी; 3 बच्चों समेत 15 की मौत

डोंगरगांव के रहने वाले राज पाटीदार ने बताया कि मां शारदा ट्रेवल्स की बस में 40 से अधिक लोग सवार थे। पुलिस-प्रशासन से पहले डोंगरगांव और लोनारा के ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। हमने बस के कांच फोड़कर घायलों को बाहर निकाला। घायलों को अपने संसाधनों से अस्पताल पहुंचाया। ग्रामीणों ने बताया कि गांव से पांच मिनट पहले ही बस निकली थी। बस तेज रफ्तार में चल रही थी।
मौके पर एंबुलेंस और प्रशासन के अधिकारी मौजूद हैं। आईजी राकेश गुप्ता ने बताया कि खरगोन के बेजापुर से इंदौर की ओर जा रही थी। रफ्तार तेज होने के कारण अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते हुए पुल से नीचे जा गिरी। बस में 40 से अधिक यात्री थे। नदी सूखी होने के कारण अधिकतर यात्रियों को चोट लगी है, लेकिन 15 से अधिक यात्रियों की मौत हो गई। रेस्क्यू जारी है। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाया जा रहा है।
एसडीएम ने बताया कि हादसा जिला मुख्यालय से करीब 34 किलोमीटर दूर ऊन थाना क्षेत्र के डोंगरगांव के समीप हुआ। फिलहाल बस चालक का पता नहीं चल पाया है। प्राथमिक जानकारी के मुताबिक ऐसा प्रतीत होता है कि ड्राइवर को नींद का झोंका आ गया था, तभी बस अनियंत्रित हो गई।
मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुर्घटना पर शोक व्यक्ति किया। मध्यप्रदेश सरकार ने खरगोन बस दुर्घटना में मृतकों के परिवारों को 4-4 लाख रुपए, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए और मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।
कमलनाथ ने जताया दुख
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया शोक जताया है। उन्होंने लिखा- ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति की प्रार्थना करता हूं। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है। राहत और बचाव दल को अपने अभियान में शीघ्र सफलता मिले, ऐसी प्रार्थना है।
मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर दुख जताया
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर हादसे को लेकर दुख जताया है। उनके ऑफिस ऑफ शिवराज ट्विटर हैंडल ने ट्वीट कर लिखा, मुख्यमंत्री शिवराज जी ने खरगोन जिले के डोंगरगांव और दसंगा के बीच हुई बस दुर्घटना में लोगों के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त किया एवं ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति एवं घायलों के शीघ्र पूर्णत:स्वस्थ होने की प्रार्थना की।
मध्यप्रदेश सरकार की ओर से शोकाकुल परिवारों को 4-4 लाख रुपए की राहत राशि, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार एवं सामान्य रूप से घायलों को 25-25 हजार की आर्थिक सहायता दी जाएगी। शासन द्वारा घायलों के निशुल्क इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है।

मुख्यमंत्री चौहान अपनी प्राथमिक कक्षा की शिक्षिकाओं को देख कर हुए भाव-विभोर

भोपाल सोमवार,1 मई /  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान राजभवन में हुए अखंडता का उत्सव समारोह में अपनी प्राथमिक शाला की शिक्षिकाओं को देख कर भाव-विभोर हो उठे। गुजरात और महाराष्ट्र के स्थापना दिवस पर राजभवन के संदीपनि सभागार में हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम में गुजराती और मराठी समाज के भोपाल में निवासरत गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभागार में जैसे ही श्रीमती कोकिला शेठ और श्रीमती रोहिणी फड़नीस को देखा वे तत्काल आशीर्वाद प्राप्त करने उनके पास पहुँचे, चरण स्पर्श कर उनका अभिवादन किया और आशीर्वाद प्राप्त किया। श्रीमती कोकिला शेठ और श्रीमती फड़नीस ने बताया कि पुराना भोपाल क्षेत्र की मारवाड़ी रोड पर संचालित तत्कालीन श्री गुजराती समाज प्राथमिक शाला में वे श्री चौहान की शिक्षिका थी l 



विधानसभा भोपाल में डॉ. बाबा साहब अंबेडकर की प्रतिमा की स्थापना - अनावरण


   आज 19 अप्रैल 2023 का दिन ऐतिहासिक था। आज 7 दशक के बाद मध्यप्रदेश की विधानसभा भोपाल में संविधान निर्माता भारत रत्न डॉक्टर बाबासाहेब अम्बेडकर की प्रतिमा स्थापित हुई । जिसका प्रतिमा अनावरण समारोह मध्यप्रदेश विधानसभा के द्वारा आयोजित किया गया। विधानसभा के अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह, संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा डॉ. अंबेडकर परिनिर्वाण भूमि कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री इंद्रेश गजभिये ने बाबा साहब अंबेडकर की हाफ साइज की कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया। उपरोक्त सभी अतिथि गणों ने मंच से भाषण देते हुए वरिष्ठ अंबेडकरवादी नेता श्री इंद्रेश गजभिये के संघर्ष एवं प्रयासों की भूरी - भूरी सराहना की।

       विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मध्यप्रदेश में 7 दशक से विधानसभा संचालित है, लेकिन यहां विधानसभा के द्वारा बाबा साहब अंबेडकर की प्रतिमा नहीं लगाई गई थी। मैंने श्री इंद्रेश गजभिये जी के प्रयासों एवं मांग को मंजूरी देकर आज इस कमी को पूरी कर दिया। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राष्ट्र नेता बाबासाहेब आंबेडकर का जन्म हमारे मध्यप्रदेश में हुआ यह अत्यंत गौरव की बात है। हमने जन्मस्थली महू को 3.5 एकड़ जमीन का तुरंत आवंटन कर दिया है।

        समारोह में स्वागत भाषण प्रमुख सचिव श्री अवधेश प्रताप सिंह ने दिया तथा आभार प्रदर्शन विधायक श्री प्रदीप लारिया ने किया। समारोह में अनुसूचित जाति / जनजाति संगठनों के पदाधिकारी / प्रतिनिधि श्री रामेश्वर गजभिये, श्रीमती सुशीला कठाने, श्री गणेश सोमकुंवर, श्री विपिन टोप्पो,श्री फैरन सिंह बरैया, श्री मानिक राव वाकपांजर, श्री दिलीप निकोसे, श्री अशोक बंजारी, श्री अशोक बेन, श्री राम भरोसे भगवानिया, श्री विजय श्रवण, श्री वीरेंद्र डोंगरे, श्रीमती वंदना पाहुलकर, श्री विजय कठाने, श्री अभिमान सोनवाने, श्री मिलिंद रामटेके,श्री सुनील बोरसे, श्री आर.आर. वामनकर, श्री एच.एन. गोलाईत, श्री के.आर. नागले, श्री ए.आर.सिंह, डॉक्टर विनीत नागले, डॉक्टर रामदास दिलारे, श्री नेपाल सिंह दामले, श्रीमती रजनी कल्याणी, श्री भगवानदास बंसकार, श्री महेंद्र भगत एवं अन्य - अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ब्लेक स्पॉट्स के परिशोधन के लिये तत्परता से कार्यवाही करें : एस.के. झा परिवहन आयुक्त

राज्य सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दिये निर्देश

भोपाल : परिवहन आयुक्त एवं नोडल अधिकारी राज्य सड़क सुरक्षा समिति श्री एस.के. झा ने राज्य सड़क सुरक्षा समिति की लीड एजेंसियों को ब्लेक स्पॉट्स के परिशोधन के लिये तत्परता से कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग को सभी एम्बुलेंस में जीपीएस सिस्टम लगाये जाने की कार्य-योजना तैयार की जाये। स्कूली स्तर पर विद्यार्थियों और पुलिस विभाग को विभिन्न प्रकार से दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिये जागरूक करें। श्री झा ने गत दिवस राज्य सड़क सुरक्षा समिति की बैठक ली। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पीटीआरआई श्री जी. जनार्दन और विभिन्न नोडल एजेंसी के अधिकारी मौजूद रहे।

परिवहन आयुक्त श्री झा ने निर्देशित किया कि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिये सभी आवश्यक प्रबंध तत्परता से किये जायें। ब्लेक स्पॉट्स के परिशोधन को प्राथमिकता दें। सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लोक निर्माण एवं सड़क निर्माण की एजेंसियों को ब्लेक स्पॉट की जानकारी संकलित करने, ब्लेक स्पॉट के परिशोधन के लिये किये गये कार्यों एवं परिशोधन से दुर्घटनाओं में दर्ज हुई कमी की जानकारी तैयार करने, ब्लेक स्पॉट्स के शॉर्ट टर्म परिशोधन के लिये बजट की आवश्यकता एवं ट्रॉफिक कॉमिंग मेजर्स के लिये आवश्यकता अनुसार बजट राज्य सड़क सुरक्षा निधि से प्रदान करने के लिये कार्य-योजना तैयार करने को भी कहा गया।

परिवहन आयुक्त ने प्रदेश में संचालित निजी एवं शासकीय चिकित्सालयों में अनुबंधित एम्बुलेंस की जानकारी निर्धारित प्रपत्र में संकलित करने के निर्देश दिये, जिससे दुर्घटना की स्थिति में तत्परता से आपातकालीन चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सके। उन्होंने कहा कि सभी एम्बुलेंस में जीपीएस सिस्टम लगाये जाने की कार्य-योजना तैयार करें, जिसमें केन्द्र सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नम्बर-112 और 108 को इंटीग्रेट करें। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट कमेटी ऑन रोड सेफ्टी के निर्देशानुसार जिलों में ट्रॉमा केयर-सेंटर की स्थापना और सेंटर की गाइड-लाइन अनुसार डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ की नियुक्ति संबंधी जानकारी देन के निर्देश दिये।

परिवहन आयुक्त श्री झा ने शिक्षा विभाग से कक्षा 6 से 12 तक के विद्यार्थियों को यातायात नियमों की जानकारी पाठ्यक्रम में शामिल करने के लिये आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के बीच प्रचार-प्रसार के विभिन्न माध्यमों का प्रभावी उपयोग कर आमजन को दुर्घटनाओं से बचाव के लिये जागरूक किया जा सकता है। उन्होंने अवयस्क छात्र-छात्राओं के वाहन से स्कूल जाने पर रोक लगाने को कहा।

पुलिस विभाग एवं आईटीएमएस द्वारा संचालित एएमपीआर कैमरों, स्पीड कैमरों एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की सहायता से की जाने वाली प्रवर्तन की कार्यवाही प्रभावी ढंग से करने, साथ ही ई-चालान द्वारा की जाने वाली वसूली शत-प्रतिशत करने के और प्रभावी प्रयास करने को कहा गया।

मध्यप्रदेश निरंतर लिख रहा है विकास की गाथा: प्रधानमंत्री मोदी

उमंग और तरंग का प्रतीक है नए भारत की वंदे भारत ट्रेन

मैं इतने कम अंतराल में दूसरी बार मध्यप्रदेश आया हूँ

हमारी नीति विकास और संतुष्टिकरण की है राजनीतिक तुष्टीकरण की नहीं

भारत का रेल नेटवर्क दुनिया का श्रेष्ठ नेटवर्क

बदलता भारत प्रधानमंत्री  मोदी के नेतृत्व और मोदी विजन का चमत्कार - मुख्यमंत्री चौहान

मध्यप्रदेश के 80 रेलवे स्टेशनों को बनाया जा रहा है वर्ल्ड क्लास: रेल मंत्री वैष्णव

प्रधानमंत्री मोदी ने रानी कमलापति स्टेशन से वंदे भारत ट्रेन को दिखाई हरी झंडी



भोपाल : प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मध्यप्रदेश निरंतर विकास की गाथाएँ लिख रहा है। खेती, उद्योग, गरीबों के लिए घर, हर घर जल से नल, गेहूँ उत्पादन आदि अनेक क्षेत्रों में प्रदेश अग्रणी है। पहले बीमारू कहा जाने वाला राज्य आज हर क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य कर रहा है। हमें विकसित भारत में मध्यप्रदेश की भूमिका को और बढ़ाना है। नई वंदे भारत ट्रेन इसी संकल्प का हिस्सा है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि आधुनिक भारत में नई व्यवस्था, नई परंपरा बन रही है। वंदे भारत ट्रेन नए भारत की उमंग और तरंग का प्रतीक है। यह भारत की आधुनिकतम ट्रेन है, जिसके लोकार्पण का मुझे सौभाग्य मिला है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि रेलवे के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि कोई प्रधानमंत्री इतने कम अंतराल में किसी रेलवे स्टेशन पर दोबारा किसी कार्यक्रम में आया है। मैं पहले रानी कमलापति स्टेशन के लोकार्पण पर आया था और आज वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखा रहा हूँ।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने राज्यपाल श्री मंगूभाई पटेल, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव की उपस्थिति में आज रानी कमलापति स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर वंदे भारत एक्सप्रेस को रवाना किया। इससे पहले प्रधानमंत्री श्री मोदी ने ट्रेन के प्रथम कोच में जाकर स्कूली बच्चों से बातचीत की। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने ड्राइविंग कैब के क्रू मेम्बर्स के साथ भी संवाद किया। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया। इस दौरान जन-प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, जिला प्रशासन तथा रेलवे के अधिकारी और बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि पहले की सरकारें वोट बैंक के तुष्टीकरण की नीति अपनाती थी। हम देशवासियों के संतुष्टिकरण पर ध्यान दे रहे हैं। पहले की सरकार एक ही परिवार को प्रथम परिवार मानती थी और गरीब मध्यम वर्गीय परिवारों पर ध्यान नहीं देती थी। हमारी सरकार हर भारतीय परिवार के कल्याण और संतुष्टि के लिए कार्य कर रही है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि भारतीय रेल सामान्य भारतीय परिवार की सवारी है। पुरानी सरकारों ने राजनीतिक स्वार्थ के चलते रेलवे का आधुनिकीरण नहीं किया। वर्ष 2014 तक नॉर्थ ईस्ट रेलवे से नहीं जुड़ा। हमारी सरकार आने के बाद हमने उसे रेलवे से जोड़ा और रेलवे का कायाकल्प किया। आज भारत का रेल नेटवर्क दुनिया का श्रेष्ठ नेटवर्क है। पहले हजारों मानवरहित फाटक थे, जहाँ आए दिन दुर्घटनाएँ होती रहती थी। आज पूरा ब्रॉडगेज मानव रहित, फाटक मुक्त है। रेल यात्री सुविधा को हमने मेड इन इंडिया कवच प्रणाली से लैस किया है। तकनीकी का प्रयोग कर शिकायतों का निराकरण किया गया है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि हमने "वन स्टेशन-वन प्रोडक्ट'' योजना से कारीगरों के कपड़े, कलाकृतियों, पेंटिंग्स, बर्तन इत्यादि का विक्रय के लिए पूरे भारत में 600 से अधिक आउटलेट रेलवे स्टेशन पर खोले हैं, जिसका लाभ आज लाखों लोग ले रहे हैं। रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण किया गया है, 6 हजार रेलवे स्टेशन वाईफाई है और 900 रेलवे स्टेशन पर सीसीटीवी का काम पूरा हो गया है। वंदे भारत ट्रेन पूरे भारत में सुपरहिट रही है और हर कोने से इन्हें चलाने की माँग आ रही है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि रेलवे के बजट में भी रिकॉर्ड वृद्धि की जा रही है। वर्ष 2014 से पहले मध्यप्रदेश का रेलवे बजट औसतन 600 करोड़ रूपए हुआ करता था, जो अब बढ़ कर 13000 करोड़ हो गया है। मध्यप्रदेश सहित देश के 11 राज्यों में रेलवे ट्रेक का शत-प्रतिशत इलेक्ट्रिफिकेशन हो गया है। इलेक्ट्रिफिकेशन की रफ्तार वर्ष 2014 से पहले 600 किलोमीटर प्रति वर्ष थी, अब वह बढ़कर 6000 किलोमीटर प्रति वर्ष हो गई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने दी है प्रदेश को वंदे भारत ट्रेन की सौगात: मुख्यमंत्री : चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के सौभाग्य का फिर से उदय हुआ है। प्रधानमंत्री श्री मोदी फिर से हमारे प्रदेश पधारे हैं। जो कभी पिछली सरकारों में गंदे और बदबू मारते हुए रेलवे स्टेशन होते थे, उनको वर्ल्ड क्लास शानदार रेलवे स्टेशन में बदला गया है, यह मोदी विजन है। प्रधानमंत्री श्री मोदी पहली बार आए तो हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति स्टेशन किया गया, और आज यह वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बना है। इस बार प्रधानमंत्री श्री मोदी प्रदेश को वंदे भारत ट्रेन की सौगात दे रहे हैं। इससे हम भोपाल से दिल्ली कम समय में पहुँच सकेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने दिया स्वदेशी का मंत्र

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पिछली सरकारों ने हमें विदेशी तंत्र दिया था। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने देश को स्वेदशी का मंत्र दिया है। वंदे भारत रेल पूरी तरह से स्वदेशी है। भोपाल में लगे फौजी मेले में प्रदर्शित युद्ध पोत, टैंक और अन्य उपकरण भी स्वदेशी हैं। यह प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व और मोदी विजन का चमत्कार है। उनके नेतृत्व में पूरे देश के साथ मध्यप्रदेश भी बदल रहा है। वंदे भारत ट्रेन ही नहीं शानदार हाई-वे, साढ़े चार लाख लम्बी सड़कें मध्यप्रदेश की धरती पर बनी हैं। सिंचाई क्षमताओं का विस्तार हुआ है, 98 लाख गरीबों को मकान, 82 लाख गैस कनेक्शन, 80 लाख किसानों को सम्मान निधि, एक करोड़ 15 लाख लोगों को राशन, 3 करोड़ से ज्यादा आयुष्मान कार्ड और 25 लाख लोगों का मुफ्त इलाज दर्शाता है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में देश के साथ मध्यप्रदेश भी बदल रहा है। मुख्यंमत्री श्री चौहान ने कहा कि धीरे-धीरे नशे पर नियंत्रण भी मोदी विजन का ही एक मंत्र है। इस दिशा में आज 1 अप्रैल से मध्यप्रदेश में शराब की दुकानों के साथ चलने वाले अहाते बंद कर दिये गये हैं।

रानी कमलापति स्टेशन के आधुनिकीकरण ने 1200 स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने का मार्ग प्रशस्त किया

केन्द्रीय रेल मंत्री श्री अश्वनी वैष्णव ने कहा कि पिछले 9 वर्षों में प्रधानमंत्री श्री मोदी ने रेलवे में अभूतपूर्व परिवर्तन किए है। विशेष रूप से मध्यप्रदेश में रेलवे के क्षेत्र में प्रधानमंत्री श्री मोदी के विजन के परिणाम स्वरूप बहुत विकास हुआ है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने देश भर में वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाने का संकल्प लिया था। इस संकल्प की सिद्धि में रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का महत्वपूर्ण स्थान है। इस स्टेशन के आधुनिकीकरण से जो अनुभव प्राप्त हुए उसके आधार पर प्रधानमंत्री श्री मोदी ने पूरे देश में 1200 स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने का निर्णय लिया है। मध्यप्रदेश में छोटे-बड़े कुल 80 स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने का काम जारी है। जनता को अधिक से अधिक सुविधाएँ मिलें, यह डबल इंजन की सरकार का लक्ष्य है। केन्द्रीय रेल मंत्री श्री वैष्णव ने मध्यप्रदेश में रेलवे प्रोजेक्टस में सहयोग के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार माना।

कलेक्‍टर ने लाड़ली को मिठाई और कपड़े देकर यूएसए के लिए रवाना किया

 मॉ स्‍वरूप आश्रम में निवास कर रही थी अनाथ बालिका

अंर्तराष्‍ट्रीय दत्‍तक गृहण के तहत लिया है बेटी को गोद

कलेक्‍टर श्री फ्रेंक नोबल ए. ने महिला एवं बाल विकास के सहयोग से भारतीय रेडक्रास सोसायटी द्वारा संचालित मॉ स्‍वरूप आश्रम (विशेष दत्‍तक गृहण एजेंसी गुना) में  निवासरत अनाथ बच्‍ची को अंर्तराष्‍ट्रीय दत्‍तक गृहण के तहत नये कपड़े एवं उपहार देकर दुलारते हुए यूएसए के लिए रवाना किया। इस दौरान उन्‍होंने बच्‍ची के उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करते हुए बधाई दी। 

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास डीएस जादौन एवं सहायक संचालक महिला एवं बाल विकास श्री आरबी गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा संचालित मॉ स्वरूप आश्रम (विशेषज्ञ दत्तक गृहण एजेन्सी) गुना में निवासरत बालिका कुटुम्ब न्यायालय गुना द्वारा पारित आदेश के पालन में भावी दत्तक माता तमिका शिया पीटरसन नॉर्थ कैरोलिना यूएसए को कलेक्टर श्री फ्रेंक नोबल ए. की उपस्थिति में अन्तर्राष्ट्रीय दत्तक गृहण में सुपुर्दग किया। इस अवसर पर कलेक्टर द्वारा चर्चा कर गिफ्टहेम्‍पर दिया साथ ही शुभकामनाएं प्रेषित की गयी एवं बालिका के उज्‍जवल भविष्य की कामना की गयी।

  इस अवसर पर श्री डी. एस. जादौन जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, बाल कल्याण समिति सदस्य श्री सतीष अरोरा, श्रीमती मेघा रावत, श्रीमती मधु शर्मा, रेडक्रास प्रबंधक श्री आशीष सक्सेना, आश्रम प्रबंधक श्री नरेन्द्र धाकड़, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ लखनलाल धाकड़, सोशल वर्कर श्रीमती प्रीति धाकड़, आया एवं अन्य स्टाफ मौजूद रहे।

ऊर्जा मंत्री तोमर ने गुना जिला चिकित्सालय और रेन बसेरा का निरीक्षण किया

सफाई कार्य में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी - ऊर्जा मंत्री 



ग्वालियर / ऊर्जा मंत्री तथा गुना जिले के प्रभारी मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मंगलवार की रात्रि 11 बजे गुना चिकित्सालय का निरीक्षण किया। उन्होंने सर्जिकल वार्ड और रात में मरीजों की संख्या की जानकारी सिविल सर्जन से ली। उन्होंने भर्ती मरीजों से वन-टू-वन चर्चा कर स्वास्थ्य की जानकारी ली।

मंत्री श्री तोमर ने ट्रामा सेंटर, आइसीयू में ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य उपकरणों के बारे में जाना। उन्होंने अस्पताल के विभिन्न वार्डों, शौचालय एवं बाथरूम की सफाई व्यवस्था का जायजा भी लिया। सफाई में कमियाँ मिलने पर अस्पताल प्रबंधन पर नाराजगी जाहिर कर कहा कि स्वच्छता में कोई कमी नहीं होनी चाहिए। अस्पताल का स्टॉफ समय पर ड्यूटी करे।

प्रभारी मंत्री श्री तोमर बस स्टेण्ड स्थित रेन बसेरा भी पहुँचे। उन्होंने वहाँ ठहरने वाले को समय पर खाना देने और साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था रखने के निर्देश दिए। 



संस्कृति और प्रकृति के संरक्षण में आदिवासी समुदाय का अहम योगदान- कुशवाह

अजाक्स के तत्वाधान में विश्व आदिवासी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित  

ग्वालियर /  हमारी संस्कृति एवं प्रकृति को संरक्षित करने में आदिवासी समुदाय का बहुत बड़ा योगदान हैं। जल,जंगल व जमीन के बिना जीवन अधूरा हैं।आदिवासी समुदाय सदियों से इनके संरक्षण का काम कर रहा है। आदिवासी समाज वो समाज है जिसने अंग्रेजों को भी मुँहतोड़ जबाव दिया था। इसलिए हम सभी का दायित्व है कि आदिवासी समाज के उत्थान  में अपना योगदान दें। इस आशय के विचार उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित हुए कार्यक्रम में व्यक्त किए । 

यहाँ ठाठीपुर स्थित अजाक्स कार्यालय परिसर में आयोजित हुए कार्यक्रम की अध्यक्षता बीज एवं फॉर्म विकास निगम के अध्यक्ष श्री मुन्नालाल गोयल ने की। इस अवसर पर जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती दुर्गेश कुंवर सिंह जाटव बतौर विशिष्ट अतिथी मौजूद थीं। कार्यक्रम में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आशीष तिवारी, अपर कलैक्टर श्री एच बी शर्मा, कार्यक्रम के मुख्य  वक्ता वरिष्ठ पत्रकार डाँ. सत्यप्रकाश शर्मा, श्री आशीष प्रताप सिंह राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधी गण जी आर मेडीकल कॉलेज के अधिष्ठाता, सहायक आयुक्त जन जाति कल्याण श्री एच बी शर्मा व अजाक्स के जिला अध्यक्ष चौधरी मुकेश मौर्य मंचासीन थे। 

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में केन्द्र व राज्य सरकार आदिवासी समुदाय में जन्मे महापुरूषों को सम्मान देने में अग्रणी है। सरकार द्वारा भगवान बिरसा मुण्डा जैसे महापुरूषों की प्रतिमा लगाने के साथ साथ उनके नाम से उत्सव भी मनाएं जा रहे हैं , जिससे सम्पूर्ण समाज  उनके जीवन चरित्र से प्रेरणा ले सके। उन्होंने कहा संत व महापुरूष किसी एक समाज के नहीं होते वे सभी समाज के कल्याण का काम करते हैं।

बीज एवं फॉर्म विकास निगम के अध्यक्ष श्री गोयल ने कहा  कि आदिवासी समाज ने प्रकृति संरक्षण के लिए बखूबी डंग से अपनी भूमिका का निर्वहन किया है। हम सब की भी जिम्मेदारी है कि उनके शैक्षणिक व आर्थिक उत्थान में अपना योगदान दें। उन्होंने जल,जंगल और जमीन को बचाने के लिए जन भागीदारी के साथ काम करने पर बल दिया। 

जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती दुर्गेश जाटव ने कहा पहला मानव समाज आदिवासी समाज है, जो मानव का बजूद को बनाए रखने और प्रकृति को संरक्षित करने के लिए हमेशा से संघर्ष करता रहा है। उन्होंने आदिवासी समुदाय को शिक्षित करने के लिए उन्हीं की भाषा व बोली में शिक्षा देने की जरूरत बताई। 

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. सत्यप्रकाश शर्मा ने कहा कि हम अपने आप को प्रकृति से कैसे जोड़े यह सीख और संदेश हम आदिवासी समाज से ले सकते है। आदिवासी समुदाय ने प्रकृति की शुरूवात से ही जल,जंगल व भूमि का संरक्षण करने के साथ साथ सामाजिक समरसता बनाए रखने का भी संदेश दिया है। उन्होंने आदिवासियों के अधिकार व उनके संरक्षण के लिए बनाए गए कानूनों की जानकारी भी दी। 

आरंभ में अतिथियों ने भगवान बिरसा मुंडा, टंट्या भील, संत रविदास व संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। स्वागत उदबोधन अजाक्स के जिला अध्यक्ष चौधरी मुकेश मौर्य ने दिया। अंत में श्री रामेश्वर पटेल ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. रवि अंबे द्वारा किया गया। 

आदिवासी बहुल ग्राम गुर्री को गोद लेकर कराए जाएँगे विकास कार्य

उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि उटीला के पास स्थित आदिवासी बहुल ग्राम गुर्री को गोद लेकर सभी साझा प्रयासों से विकसित किया जाएगा। इस गांव में सरकार के सभी विभागों की योजनाओं को मूर्त रूप दिया जाएगा। उन्होंने इस अवसर पर महान संत रविदास के भव्य मंदिर का निर्माण कराने की बात भी कही। श्री कुशवाह ने कहा कि सभी के प्रयासों से यह मंदिर बनवाया जाएगा। जिसमें वे अपनी ओर से भी भरपूर सहयोग देंगे।

आदिवासी गौरव सम्मान भी प्रदान किए गए

समाज कल्याण के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम कर रहे विभूतियों को कार्यक्रम में आदिवासी गौरव अलंकरण सम्मान प्रदान कर सम्मानित किया गया। सम्मानित विभूतियों में  एसडीएम मुरार ग्रामीण श्रीमती पुष्पा पुषाम, बैंक ऑफ इंडिया के चीफ मैनेजर श्री दीपक कुजूर, सीएम राइज कन्या विद्यालय की प्राचार्य श्रीमती मनोरमा नायक, जीआरएमसी के पैथोलॉजी विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. गजेंद्र पाल सिंह, राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के श्री कुलदीप त्रिवेदी शामिल हैं। 

रंगारंग आदिवासी नृत्य ने बांधा समा

विश्व आदिवासी दिवस पर रंगारंग रैली भी निकाली गई। फूल बाग से शुरू हुई यह रैली अजाक्स कार्यालय परिसर पहुँची और यहीं पर इसका समापन हुआ। रैली में शामिल लोक कलाकारों ने अजाक्स कार्यालय में रंगारंग  उरांव आदिवासी लोकनृत्य प्रस्तुत कर समा बांध दिया। 



पारंपरिक कलाओं का संरक्षण सराहनीय मुख्यमंत्री चौहान

मुख्यमंत्री ने स्मार्ट उद्यान में किया पौध-रोपण


ग्वालियर / मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट उद्यान में पीपल, मौलश्री और हरसिंगार के पौधे लगाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ म.प्र. आदिवासी वित्त विकास निगम की अध्यक्ष श्रीमती निर्मला बारेला ने अपने जन्म-दिन पर पौधा-रोपण किया। श्री सुनील बारेला भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान को बहनों ने बांधी राखी

मुख्यमंत्री श्री चौहान को पौध- रोपण के दौरान बेगम्स ऑफ भोपाल, द लेडीज क्लब की सदस्य श्रीमती रखशां जाहिद, श्रीमती वीनू धीर, श्रीमती यासीन अली और सुश्री अलीना जाहिद ने राखी बांधी और मुख्यमंत्री के साथ पौधे भी लगाए। क्लब की सदस्यों ने बताया कि उनके द्वारा पर्यावरण- संरक्षण के क्षेत्र में विभिन्न गतिविधियों का संचालन किया जाता है। स्थानीय कारीगरों और पारंपरिक कला रूपों को बढ़ावा देने के लिए महिला बाजार, परी बाजार के संचालन में भी बहनों का सहयोग रहता है। भोपाल शहर की पारंपरिक हस्तकला से लोगों को अवगत करवाने के प्रयास किए जाते हैं। हेरिटेज ड्राइव और वॉक से नागरिकों को जोड़ने का प्रयास किया जाता है। सांस्कृतिक परंपराओं की जानकारी लोगों को दी जाती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्लब की बहनों द्वारा पारंपरिक कलाओं के संरक्षण के लिये किया जा रहा कार्य प्रेरक और सराहनीय है।



राज्यपाल पटेल ने आमजन के लिए खुलवाया राजभवन

ग्वालियर / राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आमजन को राजभवन का अवलोकन कराने के निर्देश दिए हैं। राजभवन में 13, 14 और 16 अगस्त को आमजन को प्रवेश दिया जाएगा। भ्रमण के लिए नियत दिवस को सायंकाल 4 से रात्रि 9 बजे तक राजभवन में प्रवेश की अनुमति रहेगी।   स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को राजभवन में आमजन का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।




Featured Post

25 जुलाई 2024, गुरूवार का पंचांग

*सूर्योदय :-* 05:39 बजे   *सूर्यास्त :-* 19:16 बजे  *विक्रम संवत-2081* शाके-1946  *वी.नि.संवत- 2550*  *सूर्य -* सूर्यदक्षिणायन, उत्तर  गोल  ...