ग्वालियर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ग्वालियर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ग्वालियर में बनेंगे स्ट्रीट वेंडरों के लिए हाट-बाजार

भोपाल / देश के आम बजट में गांव, गरीब, किसान और युवओं पर फोकस किया है। इसका अधिक से अधिक लाभ मध्य प्रदेश को हो इसकी तैयारियां भी शुरू हो गई है। दरअसल बजट में कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता में रखा है। प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बढावा देने के लिए प्रयास किए जा रहे है।

बजट में आगामी 2 वर्ष में एक करोड किसानों को उत्पादों के प्रमाणीकरण, ब्रांडिंग और मार्केटिंग में सहायता देने की घोषणा की गई है साथ ही 10 हजार बायो रिसर्च सेंटर बनाए जाएंगे। साप्ताहिक हाट और स्ट्रीट फूड हब बनाने की घोषणा हुई है। प्रदेश की ओर से भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में हाट बाजार बनाने के प्रस्ताव भेजे जाएंगे। मुख्यमंत्री मोहन यादव ने आम बजट को लेकर अधिकारियों से बैठक की। वहीं मंत्रियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने विभागों से जुडी योजनाओं को अध्ययन करके प्रस्ताव शीघ्र भेजें।

राजस्व अभियान 2.0 का क्रियान्वयन संभाग में प्रभावी रूप से हो

 

संभागीय आयुक्त ने संभाग के जिला कलेक्टरों की बैठक लेकर अभियान की समीक्षा की 

संभाग के सभी अनुविभागीय अधिकारी अपने अधीनस्थ न्यायालयों का अनिवार्यत: करें निरीक्षण 

  ग्वालियर /राजस्व अभियान 2.0 का क्रियान्वयन ग्वालियर संभाग में गंभीरता से किया जाए। राजस्व के जो भी प्रकरण लंबित हैं वह अभियान के तहत निराकृत हों। जिला कलेक्टर अपने-अपने जिले की निरंतर मॉनीटरिंग कर प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाए। संभागीय आयुक्त श्री मनोज खत्री ने बुधवार को गूगल मीट के माध्यम से ग्वालियर संभाग के सभी जिला कलेक्टर एवं राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर उक्त संबंध में दिशा-निर्देश दिए। 

संभागीय आयुक्त श्री खत्री ने ग्वालियर संभाग में पदस्थ सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को भी निर्देशित किया है कि वे अपने अधीनस्थ सभी न्यायालयों का आगामी दो दिनों में अनिवार्यत: निरीक्षण कर उक्त आशय का प्रमाण-पत्र भी जिला कलेक्टरों को प्रस्तुत करें। तहसीलों के निरीक्षण के दौरान अगर यह पाया गया कि अनुविभागीय अधिकारी द्वारा भी अपने अधीनस्थ न्यायालयों का निरीक्षण नहीं किया गया है तो संबंधित अनुविभागीय अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि आरसीएमएस में दर्ज सभी प्रकरणों की सूची निकालकर राजस्व न्यायालयो में रखी जाए, ताकि न्यायालय में उपलब्ध प्रकरण और आरसीएमएस में दर्ज प्रकरणों का मिलान कर उनका निराकरण सुनिश्चित किया जा सके। 

संभागीय आयुक्त श्री मनोज खत्री ने समीक्षा के दौरान जिला कलेक्टरों से भी अपेक्षा की है कि वे अपने-अपने जिले में संबंधित राजस्व अधिकारियों को लक्ष्य निर्धारित कर अभियान के तहत राजस्व प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित कराएं। इसकी निरंतर मॉनीटरिंग भी की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ जगह देखने में आया है कि राजस्व न्यायालयों में दर्ज प्रकरण संपूर्ण दस्तावेज के साथ पटवारियों को दे दिए जाते हैं, जो कि पूरी तरह से गलत है। कोई भी न्यायालय में दर्ज प्रकरण किसी भी पटवारी को नहीं दिया जाना चाहिए। निरीक्षण के दौरान अगर ऐसा पाया गया तो संबंधित अधिकारी के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। 

समीक्षा बैठक में ग्वालियर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने अपने जिले की रणनीति और अभियान के तहत अब तक किए गए कार्य के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। इसी प्रकार दतिया कलेक्टर श्री संदीप माकिन, शिवपुरी कलेक्टर श्री रविन्द्र कुमार चौधरी, गुना कलेक्टर श्री सतेन्द्र सिंह, अशोकनगर कलेक्टर श्री सुभाष द्विवेदी ने अपने-अपने जिले में राजस्व अभियान के तहत की जा रही कार्रवाई के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। 

बाढ़-आपदा पूर्व तैयारी कार्यक्रम के अंतर्गत होमगार्ड कैम्पस बहोड़ापुर में प्रदर्शनी एवं मॉकड्रिल का आयोजन

ग्वालियर /   बाढ़ - आपदा पूर्व तैयारी कार्यक्रम के अंतर्गत होमगार्ड कैम्पस बहोड़ापुर में एसडीईआरएफ ग्वालियर एवं एनडीआरएफ आठवीं बटालियन जिला गाजियाबाद द्वारा संयुक्त रूप से प्रदर्शनी एवं मॉकड्रिल का आयोजन किया गया है। इस मौके पर अपर कलेक्टर श्री टी एन सिंह, एसडीएम ग्वालियर श्री अतुल सिंह, उपस्थित थे। 

डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेंट होमगार्ड ग्वालियर श्री आर डी सिंह ने बताया कि प्रदर्शनी के माध्यम से आपदा प्रबंधन से संबंधित निम्न उपकरणों का प्रदर्शन एवं डीप डायविंग की मॉकड्रिल भी कराई गई। 

तेजी से कराएं अटल स्मारक का निर्माण

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने निर्माण स्थल का लिया जायजा

ग्वालियर / भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में ग्वालियर में भव्य “अटल स्मारक” आकार लेने जा रहा है। राज्य शासन ने अटल स्मारक के निर्माण के लिये लगभग 20 करोड़ रूपए की राशि मंजूर की है। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बुधवार को अटल स्मारक निर्माण स्थल सिरोल पहाड़ी पर पहुँचकर कार्य का जायजा लिया। साथ ही निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश कार्य एजेंसी को दिए। 

निरीक्षण के बाद कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कार्यपालन यंत्री टूरिज्म श्री अरुण गुप्ता एवं निर्माण कंपनी के प्रतिनिधियों की बैठक लेकर अटल स्मारक प्रोजेक्ट के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी ली। साथ ही निर्देश दिए कि स्मारक का निर्माण पूरी गुणवत्ता के साथ हो। बैठक में बताया गया कि अटल स्मारक निर्माण के प्रथम चरण के लिये गत दिसम्बर माह में लगभग 12 करोड़ रूपए का वर्क ऑर्डर टेण्डर जारी किया गया था। बंसल एण्ड कंपनी को यह टेण्डर अलॉट हुआ है। टेण्डर की शर्तों के अनुसार 18 माह की अवधि में यह कार्य पूर्ण किया जाना है। 

अपर ककैटो से 24 जुलाई को ककैटो के लिये छोड़ा जायेगा पानी

क्षेत्रीय गांव के नागरिकों को सतर्क रहने की सलाह 

ग्वालियर / अपर ककैटो बांध से 24 जुलाई को पूर्वान्ह ककैटो बांध के लिये पानी छोड़ा जायेगा। यह पानी ग्वालियर शहर के पेयजल के सबसे बड़े स्त्रोत तिघरा जलाशय को भरने के लिये छोड़ा जा रहा है। जल संसाधन विभाग ने अपर ककैटो व ककैटो बांध के आसपास के गाँव के नागरिकों को सजग रहने के लिये सूचित किया है। साथ ही यह भी सूचना दी है कि मानसून सीजन के दौरान पानी की अत्यधिक आवक होने की स्थिति में अपर ककैटो बांध का पानी कभी भी छोड़ा जा सकता है। इसलिए क्षेत्रीय नागरिक सतर्क रहें। विभाग द्वारा इस संबंध में संबंधित अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, पुलिस थानों, गेल इंडिया लिमिटेड बूड़दा एवं ग्राम पंचायत बूड़दा को सूचित कर दिया गया है।  

एमपी ऑनलाइन व सीएससी कियोस्क पर भी होगा ई-केवायसी एवं खसरे को समग्र से लिंक कराने का काम

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कियोस्क संचालकों से शिविर लगाकर अधिकाधिक नागरिकों को लाभान्वित कराने के दिए निर्देश 

शासन द्वारा एमपीएसईडीसी के माध्यम से कियोस्क संचालकों को किया जायेगा शुल्क का भुगतान 

राजस्व महाअभियान के दौरान ई-केवायसी एवं खसरे को समग्र से लिंक करने की सुविधा एमपी ऑनलाइन व सीएससी कियोस्क के माध्यम से आम नागरिक नि:शुल्क रूप से करा सकते हैं। इसके लिये निर्धारित शुल्क 18 रूपए का भुगतान संबंधित कियोस्क को एमपीएसईडीसी के माध्यम से किया जायेगा। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने जिले में संचालित सभी एमपी ऑनलाइन व सीएससी कियोस्क के संचालकों से शासन के निर्देशों के तहत आम नागरिकों को शिविर लगाकर यह सुविधा उपलब्ध कराने के लिये कहा है। 

ज्ञात हो राजस्व महाअभियान 2.0 का आयोजन गत 16 जुलाई से शुरू हुआ था, जो 31 अगस्त तक जारी रहेगा। राजस्व महाअभियान के दौरान ई-केवायसी तथा समग्र से खसरे की लिंकिंग का कार्य भी अभियान बतौर किया जा रहा है। 

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कियोस्क संचालकों को पत्र लिखकर निर्देश दिए हैं कि कियोस्क स्तर पर शिविर लगाकर अधिकाधिक नागरिकों को ई-केवायसी एवं खसरे में आधार लिंक की सुविधा उपलब्ध कराएं। इस कार्य में संबंधित तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पटवारी व ग्राम पंचायत सचिव का सहयोग लिया जा सकता है। 

सुरक्षा समिति की बैठक में लिए गए निर्णयों पर अमल जारी

ब्लैक स्पॉट रायरू व बरौआ पहुँच मार्गों पर दुर्घटनायें रोकने के लिये बनाए स्पीड ब्रेकर 

  ग्वालियर /  सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दिए गए निर्देशों के पालन में जिले में चिन्हित ब्लैक स्पॉट को दुर्घटना फ्री बनाने का काम प्रमुखता से किया जा रहा है। इस कड़ी में रायरू एवं बरौआ पहुँच मार्ग पर स्पीड ब्रेकर बना दिए गए हैं। स्पीड ब्रेकर बनने से यहां से गुजरने वाले वाहनों की गति कम होगी, जाहिर है दुर्घटनायें भी रूकेंगीं। 

ज्ञात हो गत 16 जुलाई को सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में रायरू और बरौआ पहुँच मार्गों पर होने वाली दुर्घटनाओं की ओर ध्यान आकर्षित किया गया था। सांसद ने यहां पर दुर्घटनायें रोकने के लिये ठोस कार्रवाई करने को कहा था। इस पालन में कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग श्री ओमहरि शर्मा एवं उप पुलिस अधीक्षक यातायात श्री अजीत सिंह ने मौके का निरीक्षण किया। साथ ही वहां पर तकनीकयुक्त स्पीड ब्रेकर बनवाने की कार्रवाई को अंजाम दिलाया।  

अग्निवीर भर्ती स्थल पर बेरीकेटिंग सहित सभी व्यवस्थायें पुख्ता हों – कलेक्टर

 

भर्ती की तैयारियों को लेकर कलेक्टर श्रीमती चौहान की अध्यक्षता में हुई अहम बैठक

ग्वालियर में एक अगस्त की मध्यरात्रि से 12 अगस्त तक होगी अग्निवीर भर्ती रैली

लगभग साढ़े नौ हजार अभ्यर्थी भर्ती रैली में होंगे शामिल

 ग्वालियर / ग्वालियर में होने जा रही अग्निवीर भर्ती रैली को सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराने के लिए पुख्ता तैयारियां की जा रही हैं। ग्वालियर के अटल बिहारी वाजपेयी दिव्यांग खेल प्रशिक्षण केन्द्र में एक अगस्त की मध्यरात्रि से 12 अगस्त तक अग्निवीर भर्ती रैली आयोजित होगी। इस सिलसिले में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान की अध्यक्षता में सोमवार को हुई जिला प्रशासन, नगर निगम एवं अग्निवीर भर्ती से जुड़े सेना के अधिकारियों की बैठक में तैयारियों की समीक्षा की गई। उन्होंने बेरीकेटिंग व टेंट सहित सभी व्यवस्थायें 30 जुलाई तक मुकम्म्ल करने के निर्देश दिए। 

यहां कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री हर्ष सिंह, निदेशक आर्मी भर्ती कार्यालय मुरार कर्नल पंकज कुमार, अपर कलेक्टर श्रीमती अंजू अरुण कुमार व श्री टी एन सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कहा कि भर्ती स्थल पर पर्याप्त संख्या में पेयजल प्वॉइंट व अस्थायी शौचालय स्थापित करें। साथ ही प्रवेश व निकास द्वार, भर्ती स्थल तक पहुँचने और वापस होने के सभी मार्गों पर पुख्ता बेरीकेटिंग की जाए। उन्होंने भर्ती स्थल पर एम्बूलेंस व मेडीकल टीम तैनात करने के निर्देश भी दिए। साथ ही कहा कि अभ्यर्थियों के साथ आने वाले परिजनों के लिये भी अलग से टेंट लगवाए जाएं। दुपहिया व चार पहिया वाहनों के लिये पार्किंग स्थल निर्धारित करने के लिये भी उन्होंने कहा। 

निदेशक आर्मी भर्ती कार्यालय मुरार कर्नल पंकज कुमार ने बैठक में जानकारी दी कि लिखित परीक्षा में सफल हो चुके लगभग 9 हजार 500 अभ्यर्थी अग्निवीर भर्ती रैली में भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि एक अगस्त की रात 2 बजे से अभ्यर्थियों की दौड़ शुरू हो जायेगी। भर्ती रैली 12 अगस्त तक चलेगी। हर दिन औसतन 1100 से 1200 अभ्यर्थी भाग लेंगे। सभी अभ्यर्थियों के आधारकार्ड, जाति प्रमाण-पत्र, ड्रायविंग लायसेंस व शैक्षणिक योग्यताओं के प्रमाण-पत्रों की बारीकी से जांच की जायेगी। इसके लिए पर्याप्त संख्या में काउण्टर बनाए जायेंगे। भर्ती रैली को सुव्यवस्थित ढंग से संपन्न कराने के लिये अटल बिहारी वाजपेयी दिव्यांग खेल परिसर में लगभग दो किलोमीटर लम्बाई में बेरीकेटिंग की जायेगी। 

घर-घर सर्वे कर मच्छरों का लार्वा नष्ट कराने पर जोर

टेमोफोस का छिड़काव व जमा पानी में डाली जा रही हैं गम्बूशिया मछलियाँ 

डेंगू व मलेरिया नियंत्रण के लिये गठित दलों को सतर्क होकर काम करने के दिए निर्देश 

 ग्वालियर /  घर-घर सर्वे कर मच्छरों का लार्वा नष्ट कराएं। साथ ही जमा पानी में टेमोफोस का छिड़काव और गम्बूशिया मछलियां डालने का काम भी जारी रखें। जिस क्षेत्र में डेंगू के मरीज पाए गए हैं उस क्षेत्र में टेमोफोस व पायरेथ्रम स्प्रे का छिड़काव प्रमुखता से किया जाए। इस आशय के निर्देश कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, मलेरिया अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। इस परिपालन में स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले द्वारा डेंगू एवं मच्छरजनित अन्य बीमारियों से बचाब के लिए लगातार कार्यवाही की जा रही है। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.के. राजौरिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की मलेरिया टीम शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित सर्वे कर मच्छरों के लार्वा का विनिष्टीकरण व बुखार के केसों की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि ग्वालियर शहर के 66 वाडों में डेंगू-मलेरिया के सर्वे के लिये लगभग 45 टीमें काम कर रहीं है। टीम द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान लार्वा समाप्त करने के लिये आवश्यकतानुसार जमा पानी में टेमोफोस का छिडकाव किया जा रहा है। साथ ही डेंगू प्रभावित क्षेत्र एवं संभावित संवेदनशील क्षेत्र में 400 मीटर के दायरे में टेमोफोस व पायरेथ्रम दवा स्प्रे का छिडकाव किया जा रहा है। डेंगू नियंत्रण कार्य में नगर निगम के सहयोग से फोगिंग की कार्यवाई लगभग हर दिन संवेदनशील क्षेत्र में की जा रही है।

जिले के सभी विकासखंडों के ग्रामों में स्थानीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता व आशा कार्यकर्ता मलेरिया व डेंगू की रोकथाम के लिए बुखार केसों की मलेरिया जांच रैपिड किट द्वारा कर रहे हैं।  ग्राम में जहां भी पानी का जमाव होता है वहा आयल फिलिंग व टेमोफोस की दवा का छिडकाव स्थानीय स्वास्थ्य कार्यकता व आशा द्वारा किया जा रहा है। 

त्वरित कार्रवाई के लिए रेपिड रिस्पांस व कॉम्बेट टीम गठित 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार  जिले में डेंगू रोगियों की त्वरित जांच, उपचार व नियंत्रण कार्य के लिए जिला स्तर व विकासखण्ड स्तरों पर  रैपिड रिस्पान्स टीम व काम्बेट टीमों का गठन किया गया है। अभी तक कुल 2714 रोगियों की डेंगू जांच में कुल 133 पॉजिटिव केस पाए गए, इन सभी का उपचार किया गया। साथ ही डेंगू नियंत्रण के लिए घर-घर जाकर कन्टेनर चेक किये गये, जिनमें 2622 घरों में कुल 2966 कन्टेनरों में पाये गये लार्वा को नष्ट कराया गया।  लार्वा नष्ट करने के लिए लगभग 20 हजार गम्बुसिया मछलियों को विभिन्न स्थानों पर जमा पानी में डाला गया है।

हाईरिस्क क्षेत्रों में बांटी मच्छरदानी, जनजागरूकता कार्यक्रम भी जारी 

जिले में हाईरिस्क ग्रामीण क्षेत्रों में  मलेरिया नियंत्रण हेतु भारत शासन से प्राप्त मच्छरदानी का वितरण किया गया है। साथ ही मलेरिया की जांच सुविधा सभी स्वास्थ्य केन्द्र व आशा कार्यकर्ता के पास निःशुल्क उपलब्ध है। जन जागरुकता के लिए मलेरिया रथ व एडवोकेसी कार्यशाला के माध्यम से मलेरिया माह के अन्तर्गत प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

संभाग आयुक्त खत्री ने किया तानसेन तहसील का औचक निरीक्षण

 

पत्रकों का मिलान न होने पर जताई नाराजगी 

तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश 

हस्तिनापुर, सिरसौद व बेहट वृत राजस्व न्यायालयों के रिकॉर्ड का लिया बारीकी से जायजा 

 ग्वालियर / संभाग आयुक्त श्री मनोज खत्री ने सोमवार को हस्तिनापुर पहुँचकर तानसेन तहसील के हस्तिनापुर वृत, सिरसौद वृत व बेहट वृत राजस्व न्यायालयों का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने ऑनलाइन दर्ज प्रकरणों का राजस्व न्यायालयों के पत्रकों से मिलान न होने पर नाराजगी जताई। संभाग आयुक्त ने रिकॉर्ड में भिन्नता पाए जाने पर संबंधित तहसीलदार व नायब तहसीलदारों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही इन न्यायालयों के प्रकरणों की अपर कलेक्टर के माध्यम से विस्तृत जांच कराने की हिदायत दी। 

संभाग आयुक्त श्री खत्री राजस्व महाअभियान 2.0 के तहत किए जा रहे प्रकरणों के निराकरण की वस्तुस्थिति जानने के उद्देश्य से इन राजस्व न्यायालयों का निरीक्षण करने पहुँचे थे। इस दौरान उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ग्वालियर ग्रामीण के न्यायालय का भी जायजा लिया। 

राजस्व न्यायालयों के निरीक्षण के दौरान संभाग आयुक्त श्री खत्री ने निर्देश दिए कि आरसीएमएस (रेवेन्यू केस मैनेजमेंट सिस्टम) में ऑनलाइन दर्ज प्रकरणों का समय-सीमा के भीतर निराकरण सुनिश्चित करें। ऑनलाइन दर्ज प्रकरणों के अनुसार न्यायालय में पंजियों का मिलान होना चाहिए। उन्होंने राजस्व अभियान के तहत नामांतरण, बटवारा व सीमांकन प्रकरणों को प्रमुखता के साथ समय-सीमा में निराकृत करने पर विशेष बल दिया। साथ ही कहा कि तहसील कार्यालय परिसर में आम जनों के लिये पेयजल व बुनियादी सुविधाओं की बेहतर से बेहतर व्यवस्था रहे। 

संभाग आयुक्त ने कहा कि राजस्व न्यायालयों का सम्पूर्ण रिकॉर्ड सुव्यवस्थित रहे। साथ ही जो प्रकरण लोगों द्वारा ऑनलाइन दर्ज कराए जाते हैं उनकी विधिवत पंजी संधारित करें और शासन निर्देशों के तहत समय-सीमा में निराकरण किया जाए।  

 निरीक्षण के दौरान एसडीएम ग्वालियर ग्रामीण श्री सूर्यकांत त्रिपाठी सहित संबंधित तहसीलदार व नायब तहसीलदार मौजूद थे। 

आयकर रिटर्न की अंतिम तिथि 1 माह बढ़ाई जाए : MPCCI

ग्वालियर । आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तिथि जो कि दिनांक 31 जुलाई, 2024 है । उक्त तिथि को कम से कम 1 माह आगे बढ़ाये जाने की माँग “म. प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री” द्वारा केन्द्रीय वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण से की गई है ।

अध्यक्ष-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, संयुक्त अध्यक्ष-हेमन्त गुप्ता, उपाध्यक्ष-डॉ. राकेश अग्रवाल, मानसेवी सचिव-दीपक अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-पवन कुमार अग्रवाल एवं कोषाध्यक्ष-संदीप नारायण अग्रवाल ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में अवगत कराया है कि आयकर विभाग, भारत सरकार के पोर्टल पर काफी लोड होने के कारण रिटर्न भरने में समय लग रहा है । इसलिए देशभर के करदाताओं की कर प्रक्रिया को पूरा करने के लिए कम से कम एक माह का समय बढ़ाए जाने की माँग केन्द्रीय वित्तमंत्री से की गई है, ताकि करदाताओं पर मानसिक दबाव न पड़े और वह आसानी से अपना आयकर रिटर्न भर सकें ।

हर राजस्व प्रकरण की पेशी की तिथि आरसीएमएस में अपडेट रहे – कलेक्टर

 

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने किया तहसील कार्यालय वृत पुरानी छावनी का औचक निरीक्षण 

रिकॉर्ड अस्त-व्यस्त मिलने पर तहसीलदार के रीडर को नोटिस 

राजस्व महाअभियान के तहत हो रही कार्यवाही का बारीकी से लिया जायजा 

दिए निर्देश राजस्व अधिकारी अपने रीडर की अलमारी का करें नियमित निरीक्षण 

ग्वालियर / हर राजस्व प्रकरण की पेशी की तिथि आरसीएमएस (रेवेन्यू केस मैनेजमेंट सिस्टम) में अपडेट रहे। सभी प्रकरणों की नियमित सुनवाई हो। साथ ही पीठासीन अधिकारी अर्थात तहसीलदार व नायब तहसीलदार अपने रीडर की अलमारी का नियमित निरीक्षण करें, जिससे कोई भी प्रकरण सुनवाई से छूटे नहीं। इस आशय के निर्देश कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने तहसील कार्यालय पुरानी छावनी के निरीक्षण के दौरान यहाँ के नायब तहसीलदार को दिए। उन्होंने तहसील कार्यालय का रिकॉर्ड अस्त-व्यस्त मिलने पर यहां के रीडर को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। 

श्रीमती चौहान राजस्व महाअभियान के तहत तहसील कार्यालय वृत पुरानी छावनी में हो रही कार्यवाही का निरीक्षण करने पहुँचीं थीं। निरीक्षण के दौरान एसडीएम ग्वालियर सिटी श्री अतुल सिंह एवं नायब तहसीलदार पुरानी छावनी वृत श्री राघवेन्द्र सिंह कुशवाह भी मौजूद थे। 

कलेक्ट्रेट स्थित तहसील कार्यालय वृत पुरानी छावनी के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्रीमती चौहान ने निर्देश दिए कि जिन प्रकरणों में अंतिम आदेश पारित हो जाएं उन्हें तत्काल आरसीएमएस पोर्टल पर अपलोड करें। साथ ही संबंधित पटवारी से तीन दिन के भीतर आदेश पर अमल कराएं। जिन प्रकरणों की कार्रवाई पूर्ण हो जाए उससे संबंधित समस्त दस्तावेज रिकॉर्ड रूम में जमा करने के निर्देश भी उन्होंने दिए। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने निरीक्षण के दौरान यह भी निर्देश दिए कि ऑनलाइन प्राप्त प्रकरणों में यदि सात दिन के भीतर आवेदक उपस्थित नहीं होता है तो उन प्रकरणों को लंबित न रखकर नियमानुसार निराकरण किया जाए। 

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने जोर देकर कहा कि राजस्व अधिकारी अपने रीडर पर ही निर्भर न रहें। राजस्व न्यायालय में विचाराधीन हर प्रकरण की नियमित रूप से पेशी लगें और सुनवाई भी हो। इसलिए राजस्व अधिकारी अपने रीडर की अलमारी चैक करें और व्यक्तिगत ध्यान देकर पूरे प्रकरणों को सूचीबद्ध करें। साथ ही पेशी की तिथियों सहित सूची अपनी टेबल पर रखें। उन्होंने कहा जिन प्रकरणों में इश्तेहार जारी किया जाना आवश्यक हो उनमें समय से इश्तेहार जारी कराएं। साथ ही आवेदकों को नोटिस की तामीली भी समय से कराई जाए, जिससे प्रकरण की नियमित सुनवाई हो और जल्द से जल्द निराकरण भी हो जाए। 

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्रीमती चौहान ने कहा कि तहसील कार्यालय परिसर में आम जनों के लिये पेयजल व अन्य बुनियादी सुविधाओं की बेहतर व्यवस्था रहे। रीडर सभी प्रकार के रिकॉर्ड को सुव्यवस्थित ढंग से रखें और आवक-जावक रजिस्टर भी व्यवस्थित ढंग से रहना चाहिए। 

समय-सीमा से बाहर के प्रकरणों का 10 दिन में हो निराकरण 

कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने विशेष बल देकर कहा कि राजस्व महाअभियान में नामांतरण, बटवारा व सीमांकन प्रकरणों का प्रमुखता से निराकरण किया जाना है। इसलिए जो प्रकरण समय-सीमा से बाहर निकल गए हैं उनका निराकरण 15 दिन के भीतर सुनिश्चित करें। इसमें कोई ढ़िलाई न हो। 

रेत के अवैध परिवहन में लिप्त तीन ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त

कलेक्टर श्रीमती चौहान ने हुरावली तिराहे पर पकड़ीं ट्रैक्टर-ट्रॉलियां

ग्वालियर /  जिले में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन व भण्डारण के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी छापामार कार्रवाई कर रेत के अवैध करोबार पर सख्ती से अंकुश लगाया जा रहा है। इस कड़ी में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने हुरावली तिराहे से रेत से भरी तीन ट्रैक्टर ट्रॉलियाँ पकड़ी हैं।

शुक्रवार को क्षेत्र के भ्रमण पर निकलीं कलेक्टर श्रीमती चौहान को हुरावली तिराहे पर रेत से भरी तीन ट्रैक्टर ट्रॉलियां खड़ी दिखाई दीं। कलेक्टर द्वारा किए गए निरीक्षण के दौरान ट्रेक्टर चालकों  पर रॉयल्टी की रसीद नहीं पाई गई। उन्होंने खनिज विभाग के अधिकारियों के माध्यम से इन ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को विधवत जब्त कराकर पुलिस थाना सिरोल भिजवाया । रेत के इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किए गए हैं। जिला खनिज अधिकारी ने बताया कि तीनों ट्रैक्टर मालिकों से अर्थदण्ड भी वसूला जायेगा। 

संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर ने मद्दाखो मेले की व्यवस्थाओं का लिया जायजा

दिए निर्देश भीड़ प्रबंधन के लिए करें पुख्ता बैरीकेटिंग 

पार्किंग, फायर ब्रिगेड व एम्बूलेंस की भी व्यवस्था की जाए 

श्रद्धालुओं को आने-जाने के लिये निर्धारित मार्गों का भी लिया जायजा 

क्षेत्रीय विधायक राठौर भी पहुँचे 

जिले की घाटीगाँव तहसील के अंतर्गत पर्वतीय एवं वनांचल क्षेत्र में स्थित पवित्र मद्दाखो में 21 जुलाई गुरू पूर्णिमा पर्व पर विशाल मेला आयोजित होगा। संभाग आयुक्त श्री मनोज खत्री एवं कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने गुरुवार को मद्दाखो पहुँचकर मेले में श्रद्धालुओं के लिये की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही मद्दाखो तक श्रद्धालुओं के आवागमन मार्गों का भी निरीक्षण किया। विधायक श्री मोहन सिंह राठौर भी इस दौरान मौजूद थे। 

संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर ने इस अवसर पर एसडीएम घाटीगाँव एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आगमन को ध्यान में रखकर भीड़ प्रबंधन, आवागमन व पार्किंग की पुख्ता व्यवस्था की जाए। भीड़ प्रबंधन की व्यवस्था ऐसी हो जिससे श्रद्धालु सुविधाजनक तरीके से पूजा-अर्चना करने के बाद निर्धारित मार्ग से वापस लौट सकें। इसके लिये आवश्यकता के अनुसार पुख्ता बेरीकेटिंग की जाए। साथ ही कार्यक्रम स्थल पर भीड़ प्रबंधन के लिये माइक की व्यवस्था भी रखें। 

मद्दाखो पर की जा रही व्यवस्थाओं के निरीक्षण के दौरान संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए कि मेला अवधि के दौरान एम्बूलेंस सहित स्वास्थ्य शिविर भी लगाएं। मेला परिसर में रोशनी, शौचालय व साफ-सफाई की पुख्ता व्यवस्था रहे। साथ ही फायर ब्रिगेड की व्यवस्था भी की जाए। खाद्य प्रशासन विभाग की टीम खाद्य पदार्थों का निरीक्षण अवश्य करे, जिससे श्रद्धालुओं को शुद्ध खाद्य पदार्थ मिल सकें। कार्यक्रम स्थल पर एहतियात बतौर आपदा प्रबंधन की टीम भी तैनात रहे। व्यवस्थाओं को बेहतर ढंग से अंजाम देने के लिये मेला परिसर में कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश भी दिए गए।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्रीमती अंजू अरुण कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गजेन्द्र वर्धमान एवं एसडीएम घाटीगाँव श्री राजीव समाधिया सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

रेलवे अधिकारियों को फोन से दिए निर्देश पंपों से निकलवाएं अंडरपास का पानी 

संभाग आयुक्त श्री मनोज खत्री एवं कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने गुरूपूर्णिमा पर्व पर मद्दाखो पर आयोजित होने जा रहे मेले के पहुँच मार्गों का बारीकी से जायजा लिया। जिला प्रशासन ने मेले में पहुँचने और वापस आने के लिये अलग-अलग मार्ग तय किए हैं, जिससे श्रद्धालु सुविधाजनक तरीके से मद्दाखो तक आ-जा सकें। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने घाटीगाँव-बसौठा मार्ग पर स्थित रेलवे अंडरपास का पानी निकालने के लिये रेलवे के अधिकारियों से फोन पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि मेले के दिन अंडरपास के नीचे भरे पानी को निकालने के लिये पर्याप्त संख्या में पंप लगाए जाएं। जिला प्रशासन ने श्रद्धालुओं के मद्दाखो तक पहुँचने के लिये घाटीगांव-बसौठा मार्ग एवं वापस आने के लिये धुँआगांव वाले रास्ते पर नहर के समानांतर मार्ग का निर्धारण किया है। इस मार्ग की मरम्मत कराने के लिये जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। 

ग्वालियर जिले में भी राजस्व महाअभियान 2.0 शुरू

विधायक राठौर एवं कलेक्टर ने घाटीगाँव तहसील में किया अभियान का शुभारंभ 

कलेक्ट्रेट सहित जिले के सभी तहसील कार्यालयों में किया गया महाअभियान का शुभारंभ 

अभियान के तहत समय-सीमा में करें प्रकरणों का निराकरण – कलेक्टर श्रीमती चौहान 

31 अगस्त तक चलेगा महा अभियान

 ग्वालियर / लंबित राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण और राजस्व अभिलेखों में त्रुटियों को ठीक करने के लिये ग्वालियर जिले में भी गुरुवार 18 जुलाई को राजस्व महा अभियान - 2.0 शुरू हुआ। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की पहल पर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया यह महाअभियान 31 अगस्त तक जारी रहेगा। विधायक श्री मोहन सिंह राठौर एवं कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने तहसील कार्यालय घाटीगाँव में इस अभियान का शुभारंभ किया। इसी तरह कलेक्ट्रेट सहित जिले के अन्य सभी तहसील कार्यालयों में राजस्व महाअभियान का शुभारंभ करने के लिये कार्यक्रम आयोजित हुए।

घाटीगाँव तहसील में आयोजित हुए कार्यक्रम में अपर कलेक्टर श्रीमती अंजू अरुण कुमार एवं एसडीएम घाटीगाँव श्री राजीव समाधिया सहित अन्य राजस्व अधिकारी एवं क्षेत्रीय किसान व भू-स्वामी मौजूद थे। इसी तरह कलेक्ट्रेट में अपर कलेक्टर श्री टी एन सिंह व संयुक्त कलेक्टर श्री संजीव जैन तथा डबरा तहसील कार्यालय में एसडीएम श्री दिव्यांशु चौधरी सहित अन्य राजस्व अधिकारी उपस्थित थे। 

कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और तहसीलदार व नायब तहसीलदारों को समय-सीमा में भू-स्वामियों को सेवाएँ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा है कि राजस्व प्रकरणों का निराकरण पूरी गंभीरता से और समय-सीमा में किया जाए। राज्य शासन द्वारा राजस्व महाअभियान के लिये जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पालन कर नए राजस्व प्रकरणों को आरसीएमएस में दर्ज कराएँ। पूर्व आदेशों के अनुसार खसरों और नक्शे में अमल सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि राजस्व महाअभियान 2.0 के तहत किसानों और आमजन की सहुलियत के लिये पटवारी और मैदानी अमला मुख्यालय पर रह कर दायित्वों का निर्वहन करें। 

राजस्व महा अभियान में नि:शुल्क समग्र ई-केवायसी और समग्र से खसरे की लिंकेज की सुविधा दी गई है। स्वामित्व योजना में आबादी भूमि के सर्वेक्षण की कार्रवाई पूर्ण करने की समय-सीमा निर्धारित की गई है। अभियान के तहत पीएम किसान योजना के सभी पात्र किसानों को लाभान्वित कराया जायेगा। साथ ही छूटे हुए पात्र हितग्राही योजना से जोड़े जायेंगे। 

प्रकरणों के निराकरण के लिये निर्धारित है समय-सीमा 

राजस्व महाअभियान में अविवादित नामांतरण प्रकरणों का निराकरण 30 दिन में, विवादित नामांतरण प्रकरणों का निराकरण 150 दिन में किया जायेगा। बंटवारा प्रकरणों के निराकरण की समय-सीमा 90 दिन है और सीमांकन प्रकरणों को 45 दिन में निराकृत करने के निर्देश दिये गये हैं। इसके साथ ही नक्शे में तरमीम का कार्य सतत् जारी रहेगा। राजस्व महा अभियान 2.0 में 30 जून 2024 की स्थिति में लंबित नामांतरण, बँटवारा, अभिलेख दुरूस्ती और सीमांकन के प्रकरणों में निराकरण का लक्ष्य रखा गया है। 

अभियान के तहत होगा डिजिटल क्रॉप सर्वेक्षण

राजस्व महा अभियान में एक अगस्त से 15 सितंबर 2024 तक फसलों का डिजिटल (क्रॉप) सर्वेक्षण किया जायेगा। किसानों के खेत पर जाकर फसल का फोटो खीचकर जानकारी अद्यतन करने के लिये युवाओं का चयन किया जाएगा। चयनित युवाओं को 25 जुलाई तक प्रशिक्षित किया जाना है। 

वरिष्ठ राजस्व अधिकारी करेंगे राजस्व न्यायालय का निरीक्षण 

राजस्व महा अभियान में संभागायुक्त, कलेक्टर, अपर कलेक्टर, एसडीएम और तहसीलदार मैदानी क्षेत्र का भ्रमण करेंगे और राजस्व महा अभियान में की जा रही कार्रवाई की मॉनीटरिंग करेंगे। साथ ही राजस्व न्यायालयों का निरीक्षण भी करेंगे। 

“एक पेड़ माँ के नाम” अभियान के तहत तहसील कार्यालय परिसर में रोपे पौधे 

राजस्व महाअभियान का शुभारंभ करने घाटीगाँव पहुँचीं कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने तहसील कार्यालय परिसर में “एक पेड़ मां के नाम” अभियान के तहत पौधे भी रोपे। इस अवसर पर विधायक श्री मोहन सिंह राठौर व अपर कलेक्टर श्रीमती अंजू अरुण कुमार ने भी पौधे रोपे। 

थाटीपुर नेहरू कॉलोनी में गोल्डन टावर मल्टी का पिलर टूटा

आधी रात को खाली कराए सभी 27 फ्लैट

ग्वालियर / देर रात को एक बडी घटना होते-होते टल गई। थाटीपुर के नेहरू कॉलोनी में गोल्डन टॉवर नामक मल्टी का एक पिलर टूट जाने से मल्टी एक तरफ झुकने लगी थी। जब लोगों ने यह देखा तो दहशत फेल गई। स्थानीय लोगांे ने पुलिस व रेस्क्यू टीमों को सूचना दी। सूचना मिलते ही नगर निगम कमिश्नर दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। बता दें कि गोल्डन टॉवर में कुल 27 फ्लैट है और सभी फ्लैट को खाली कराया गया। रात 1 बजे तक रेस्क्यू जारी था। नगर निगम ने जहां पिलर टूटा था वहां फिलहाल जैक लगा दिया है साथ ही मल्टी पर सूचना लगा दी है कि जब तक बिल्डिंग को पूरी तरह सुरक्षित घोषित नहीं किया जाता है वहां कोई नहीं रह सकता है।

स्थानीय निवासी धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि जैसे ही गोल्डन टॉवर एक तरफ को झुकने लगा तो मल्टी में रहने वाले दहशत में आ गए। तत्काल फ्लैट खाली कर बाहर की तरफ भागने लगे। एक समय के लिए तो लगा कि अब मल्टी गिर ही जाएगी।

मल्टी में कोई न जाए इसके लिए मल्टी के दोनों तरफ बेरीकेड्स लगाकर पुलिस जवान तैनात कर दिए हैं। पुलिस वहां जाने वालों को रोक रही है। कुछ समय के लिए पुलिस को वहां तमाशा देखने वालों को भी खदेड़ना पड़ा है।

डॉ. सुदाम खाड़े बने नए जनसंपर्क आयुक्त, पद संभाला


  भोपाल / मध्य प्रदेश के नए जनसंपर्क आयुक्त डॉ.सुदाम खाड़े ने अपना पद संभाल लिया है. सुदाम खाड़े ने भोपाल में जनसंपर्क संचालनालय में जनसंपर्क आयुक्त का पदभार ग्रहण किया. निवर्तमान आयुक्त संदीप यादव और संचालक जनसंपर्क रोशन कुमार सिंह ने नवागत आयुक्त डॉ सुदाम खाड़े का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया एवं उन्हें विभागीय गतिविधियों की जानकारी दी.

सुदाम खड़े भारतीय प्रशासनिक सेवा 2006 बैच के अफसर है. गौरतलब है कि डॉ सुदाम खड़े को दूसरी बार जनसंपर्क की कमान मिली है पहले भी जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान थे तब भी जनसंपर्क आयुक्त रहे थे और अब डा़ मोहन यादव की सरकार ने फिर मौका दिया. इस से पहले उन्हें ग्वालियर संभाग के आयुक्त बनाया गया था. सुदाम खाड़े दो बार मध्य प्रदेश के कलेक्टर रहे. सीहोर और भोपाल की इन्होंने कमान संभाली थी, इसके बाद मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग में कमिश्नर के पद पर भी रह चुके हैं, तत्कालीन शिवराज सरकार में जिस विभाग में यह रहे हैं हमेशा उनकी तारीफ होती रही है, माना जा रहा है इसलिए इनको जनसंपर्क की कमान सौंपी गई है.

 

ग्वालियर शहर में दो शिफ्टों में चलेंगे ई-रिक्शा

 

सांसद  कुशवाह की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया निर्णय 

ट्रैफिक प्वॉइंट का करें युक्तियुक्तिकरण और सभी प्वॉइंट पर लगवाएं सीसीटीव्ही कैमरे – कुशवाह 

ग्वालियर / शहर की यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने के लिये दो शिफ्टों में ई-रिक्शा का संचालन किया जायेगा। यह निर्णय सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया है। जिला प्रशासन, पुलिस एवं नगर निगम द्वारा शहर में ई-रिक्शा प्रबंधन के लिये बनाई गई कार्ययोजना पर समिति ने सहमति जताई। सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा शहर की यातायात व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिये उपयोगिता के अनुसार ट्रैफिक प्वॉइंट का युक्तियुक्तिकरण करें। साथ ही शेष सभी प्वॉइंट पर सीसीटीव्ही कैमरे लगवाकर इन्हें स्मार्ट सिटी के ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से जोड़ें।  

मंगलवार को कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में भाजपा जिला अध्यक्ष शहर श्री अभय चौधरी व ग्रामीण श्री कौशल शर्मा, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, पुलिस अधीक्षक श्री धर्मवीर सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सियाज के.एम., चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष श्री प्रवीण अग्रवाल, अपर आयुक्त नगर निगम श्री मुनीष सिकरवार, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्री एच के सिंह, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण श्री ओमहरि शर्मा तथा राष्ट्रीय राजमार्ग, मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकरण व यातायात पुलिस के अधिकारियों सहित समिति के अन्य सदस्यगण व संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

 जिला सड़क सुरक्षा समिति में लिए गए निर्णय के अनुसार शहर में दो शिफ्टों में दोपहर 3 बजे से रात्रि 3 बजे तक एवं रात्रि 3 बजे से दोपहर 3 बजे तक पंजीकृत ई-रिक्शा संचालित होंगे। ई-रिक्शा चालकों को रोजगार के समान अवसर मिल सकें, इसके लिये एक माह बाद शिफ्ट चेंज की जायेंगीं। बैठक में यह भी स्पष्ट किया गया कि पंजीकृत ई-रिक्शा को चलाने की अनुमति ही शहर में रहेगी। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने जानकारी दी कि पिछले दिनों शहर में 6 स्थानों पर नाके सह शिविर लगाकर लगभग 5 हजार ई-रिक्शा पंजीकृत किए गए हैं। 

शहर के प्रवेश द्वारों पर सीसीटीव्ही लगाकर बनाएं ट्रैफिक प्वॉइंट 

सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि शहर के सभी प्रवेश द्वारों पर भी सीसीटीव्ही कैमरे लगाए जाएँ, जिससे अपराधियों को पकड़ने में मदद मिले। उन्होंने प्रवेश द्वारों पर ट्रैफिक प्वॉइंट स्थापित करने के लिये भी कहा। श्री कुशवाह ने यह भी कहा कि शहर के सभी ट्रैफिक प्वॉइंट पर सीसीटीव्ही कैमरे लगाने से यातायात व्यवस्था में सुधार होने के साथ-साथ राजस्व में भी बढ़ोत्तरी होगी।

शहर में पार्किंग स्थल बढ़ाने और लेफ्ट टर्न फ्री करने पर जोर 

सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह ने शहर में सर्वेक्षण कर अधिक से अधिक छोटे-बड़े पार्किंग स्थल स्थापित करने के लिये कहा। उन्होंने कहा खासतौर पर शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों में पार्किंग स्थलों की संख्या बढ़ाई जाए। साथ ही कहा कि तिराहे-चौराहों पर विशेष प्रयास कर लेफ्ट टर्न फ्री कराए जाएं। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बैठक में जानकारी दी कि नगर निगम द्वारा लेफ्ट टर्न को चौड़ा करने की कार्ययोजना बनाई गई है। इस पर जल्द अमल किया जायेगा। बाड़े से दौलतगंज सहित शहर के अन्य मार्गों पर वाहनों के राँग साइड आवागमन को रोकने के लिये प्रभावी कार्ययोजना बनाने के लिये भी बैठक में कहा गया। 

पोल शिफ्टिंग के लिये दो हफ्ते के भीतर करें सर्वे 

शहर के यातायात में बाधा बन रहे शेष सभी विद्युत पोल शिफ्ट करने पर बैठक में विशेष बल दिया गया। सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों से कहा कि दो हफ्ते के भीतर नगर निगम के अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर सर्वे कार्य पूर्ण करें और जरूरत के मुताबिक पोल शिफ्टिंग की कार्रवाई को आगे बढ़ाएं। 

चिन्हित ब्लैक स्पॉट सहित अन्य स्थलों को दुर्घटना फ्री बनाएँ 

जिला सड़क सुरक्षा समिति ने जिले में अधिक दुर्घटनाओं की वजह से चिन्हित ब्लैक स्पॉट को दुर्घटना फ्री करने के लिये आवश्यक सुधार करने पर भी विशेष जोर दिया। सांसद श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि ब्लैक स्पॉट के अलावा ऐसे अन्य स्थल चिन्हित कर सुधार कार्य कराएँ, जहां दुर्घटनायें सामने आई हैं। उन्होंने रायरू, गणेशपुरा, बेहटा, शीतला माता तिराहा व सिकरौदा सहित अन्य दुर्घटना स्थलों की ओर ध्यान आकर्षित किया। श्री कुशवाह ने कहा विषय विशेषज्ञ से स्टडी कराकर ब्लैक स्पॉट पर दुर्घटनाएं कम करने के उपाय किए जाएं। सांसद श्री कुशवाह ने कहा कि अगर तीन माह के भीतर ब्लैक स्पॉट का प्रबंधन नहीं किया गया तो दुर्घटना होने पर  जिस विभाग की सड़क है उसके अधिकारी जवाबदेह होंगे।

सांसद श्री कुशवाह ने राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों से मेहरा के स्थान पर सिकरौदा चौराहे पर टोल टैक्स स्थानांतरित करने का प्रस्ताव तैयार करने को कहा। उन्होंने दुर्घटनाग्रस्त लोगों की मदद के लिये नेशनल हाईवे की 103 नम्बर एम्बूलेंस का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिये भी कहा। साथ ही पुलिस अधीक्षक से कहा कि सिकरौदा चौराहे पर पुलिस चौकी की स्थापना कराई जाए। 

स्कूल वाहनों की गहनता से की जाए जांच 

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में विशेष जोर देकर कहा गया कि स्कूली बसों सहित अन्य वाहनों में बच्चों की सुरक्षा के लिहाज से सभी आवश्यक इंतजाम रहें। साथ ही बच्चों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता न हो। सांसद श्री कुशवाह ने कहा कि संबंधित अधिकारी विशेष अभियान चलाकर सभी स्कूली वाहनों की जांच करें। साथ ही गैस से चलने वाले स्कूली वाहनों को सख्ती से रोका जाए। 

दुर्घटनाग्रस्त लोगों की मदद करने वाले सेवाभावी नागरिकों का कराएं सम्मान 

दुर्घटनाग्रस्त लोगों को अस्पताल पहुँचाने वाले सेवाभावी नागरिकों का सम्मान कराने और उन्हें सरकार द्वारा संचालित सोलेशियम फण्ड से सम्मान राशि दिलाने के लिये भी बैठक में कहा गया। ज्ञात हो शासन द्वारा संचालित इस योजना के तहत दुर्घटनाग्रस्त लोगों को अस्पताल पहुँचाने वाले नागरिक को सरकार द्वारा 5 हजार रूपए की सम्मान राशि दी जाती है। पुलिस अधीक्षक श्री धर्मवीर सिंह ने सभी थाना प्रभारियों एवं संबंधित अधिकारियों को ऐसे प्रकरण अपने क्षेत्र के एसडीएम को भेजने के निर्देश दिए। 

वाहनों से अनाधिकृत काली फिल्म और हूटर हटवाएं 

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में वाहनों से काली फिल्में और अनाधिकृत रूप से लगे हूटर हटवाने पर भी बल दिया गया। समिति ने पुलिस अधीक्षक से कहा कि इस दिशा में प्रमुखता से कार्रवाई की जाए। 

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत डबरा में हुआ सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन

 

सात जोड़ों ने किया दाम्पत्य जीवन में प्रवेश 

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत डबरा में आयोजित हुए सामूहिक विवाह सम्मेलन में 7 जोड़ों ने वासंती परिधानों में सजधजकर दाम्पत्य जीवन में प्रवेश किया। जनपद पंचायत डबरा की अध्यक्ष श्रीमती प्रवेश गुर्जर व उपाध्यक्ष श्री वृंदावन सिंह बघेल सहित जनपद पंचायत के सदस्यगणों ने वर-वधुओं को आशीर्वाद प्रदान किया। 

सामाजिक न्याय एवं दिव्यांगजन कल्याण विभाग के तत्वावधान में भड़ली नवमी के पावन अवसर पर सामुदायिक भवन डबरा में आयोजित हुए सामूहिक विवाह सम्मेलन में प्रत्येक वर-वधु को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 49 – 49 हजार रूपए के चैक प्रदान किए। साथ ही सभी वर-वधुओं के सुखद दाम्पत्य जीवन की कामना की गई। 

मध्य प्रदेश में 18 जुलाई से चलेगा राजस्व का महा अभियान

भोपाल. मध्य प्रदेश में 18 जुलाई से फिर राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिए महाअभियान चलेगा। इसके लिए कमिश्नर-कलेक्टर अपना दौरा कार्यक्रम बनाएंगे। इस बारे में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने वीडियो कॉफ्रेसिंग के माध्यम से कमिश्नर और कलेक्टरों को निर्देश दिए है। सीएम ने कहा कि अभियान में अच्छा काम करने वालों को पुरस्कृत किया जाएगा तो गलती होने पर माफी नहीं मिलेगी। कलेक्टर भी लगातार दौरे करें। पटवारी मुख्यालय पर रहें। नदियों में रेत का अवैध उत्खनन कडाई से रोका जाए। बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियों की रोकथाम एवं उपचार का पूरा प्रबंधन किया जाए।

31 अगस्त तक चलेगा अभियान

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनवरी से मार्च 2024 तक राजस्व महा अभियान का पहला चरण संचालित किया गया था। उसमें 30 लाख से अधिक प्रकरणों का निराकरण हुआ। अब 16 जुलाई से 31 अगस्त तक फिर अभियान चलेगा। इसमें सभी संभागायुक्त, कलेक्टर और अनुविभागीय अधिकारी अपने क्षेत्रों का निरीक्षण करेंगे।

झट से होगा सीमांकन, नक्शा सुधार

इस दौरान राजस्व न्यायालय में लंबित प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण, नक्शे सुधारना, पीएम किसान योजना सभी पात्र किसानों को लाभ देना, समग्र का आधार ई-केवाइसी और खसरे को समग्र व आधार से लिंग करने का काम किया जाएगा। डिजिटल क्रॉप सर्वेक्षण एक अगस्त से 15 सितंबर तक होगा।

Featured Post

25 जुलाई 2024, गुरूवार का पंचांग

*सूर्योदय :-* 05:39 बजे   *सूर्यास्त :-* 19:16 बजे  *विक्रम संवत-2081* शाके-1946  *वी.नि.संवत- 2550*  *सूर्य -* सूर्यदक्षिणायन, उत्तर  गोल  ...